पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

खेती-किसानी:सुहेला अंचल में हरहुना धान पककर तैयार, 15 दिन बाद कटाई, 15 नवंबर से खरीदी की मांग

सुहेलाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • किसानों ने कहा- बारिश की वजह से गिरे धान की बालियों को नुकसान, मुआवजा मांग की गुहार लगाई

अंचल में कई जगहों पर हरहुना किस्म के धान पकने के कगार पर हैं। किसानों ने इसे बांस पान की स्थिति में आना बताते हुए कहा कि पखवाड़ेभर बाद ये कटाई के लिए तैयार हो जाएंगे। किसानों ने गिरे हुए धान का मुआवजा देने तथा धान खरीदी 15 नवंबर से करने की मांग की है। अश्वनी वर्मा, सेवक वर्मा, रामजी साहू आदि किसानों ने कहा कि कृषक बालियों से लदे हुए धान के गिर जाने से बेहद निराश हैं। उन्होंने बताया कि बोनी के लंबे समय बाद बारिश होने के बाद बड़ी मुश्किल से फसल को संभाल पाए थे परंतु खड़ी फसल के गिरने से सारी मेहनत पर पानी फिर गया है। जनक राम कुर्रे, दुष्यंत वर्मा, बासीन के यशवंत वर्मा, टेकारी के गज्जू वर्मा आदि ने बताया कि गिरी हुई फसल को उठाने का प्रयास कर रहे हैं क्योंकि नहीं उठाते हैं तो नीचे के पौधे पानी में सड़ जाएंगे। उठाने का प्रयास कर रहे हैं तो अधिकांश पौधे टूट कर खराब हो रहे हैं। इस प्रकार दोनों स्थिति में नुकसान ही है। लोगों ने कहा कि खाद ऋण लेते समय सहकारी समिति द्वारा फसल बीमा की राशि काट ली जाती है और फसल नुकसान होने पर बीमा कंपनी द्वारा अनेक बहाने बनाए जाते हैं। राज्य शासन द्वारा इस साल धान खरीदी की तिथि 1 दिसंबर से निर्धारित की है, जबकि अक्टूबर के दूसरे तीसरे पखवाड़े में अर्ली वैरायटी किस्म के अधिकांश धान कट जाएंगे। इस प्रकार कटाई के बाद लोगों को एक माह तक उपज को संभाल कर रखने में परेशानी होगी। भारतीय किसान संघ के नवीन शेष, दिनेश्वर वर्मा, रिकेश साहू ,प्रीतम साहू आदि ने गिरी हुई फसल का मुआवजा एवं धान खरीदी 15 नवंबर से करने की मांग की है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें