पहल / नवापारा क्वारेंटाइन सेंटर के मजदूर कर रहे योग

Workers of Nawapara Quarantine Center doing yoga
X
Workers of Nawapara Quarantine Center doing yoga

  • क्वारेंटाइन सेंटर में प्रवासी मजदूरों को समय पर नाश्ता के साथ भोजन भी दिया जा रहा

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

सुहेला. आज जब दूरदराज से अपने गांवों में आने वाले मजदूर पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा की जा रही व्यवस्था में खामियां निकालकर शिकायत करने से चूक नहीं रहे हैं। ऐसे में समीपस्थ पंचायत नवापारा के क्वारेंटाइन सेंटर में रह रहे मजदूर काफी प्रसन्न हैं। यहां उनको रोज सुबह योग अौर अभ्यास कराया जा रहा है। लगभग एक एकड़ क्षेत्र में फैले नवापारा के हाईस्कूल भवन को बैरिकेड्स से दो भागों में बांट दिया गया है। इसके एक तरफ क्वारेंटाइन किए गए मजदूरों को ठहराया गया है, जबकि दूसरी ओर से चौकीदार, महिला समूह एवं पंचायत पदाधिकारियों द्वारा उन पर नजर रखने के साथ ही उनके भोजन आदि की व्यवस्था की जाती है।
पंचायत के सरपंच भुनेश्वर वर्मा ने बताया कि सुबह-सुबह आकर वे मजदूरों को विभिन्न प्रकार के योग एवं अभ्यास कराते हैं। इसी बीच उनकी चाय आ जाती है। उनके स्नान आदि से निर्मित होते ही चंचल महिला स्व सहायता समूह सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखते हुए नाश्ता देती है। साढे 12 बजे तक भोजन, 4 बजे चाय और 7-8 बजे शाम को फिर भोजन दिया जाता है। रोजगार सहायक करण निषाद ने बताया कि हर समय उनकी आवश्यकता अथवा मांग को पूरा करने क्वारेंटाइन सेंटर में मौजूद रहते हैं।
28 मजदूरों ने कहा- अब घर जाने की इच्छा नहीं
क्वारंटाईन सेंटर में मौजूद शिव प्रसाद निषाद, संतराम पुरैना, दीना यादव, छवि ध्रुव, सनत वर्मा, सागर निषाद सहित 28 से अधिक मजदूरों ने बताया कि सरपंच एवं चौकीदार दीपक निषाद सुबह से योगा और अभ्यास कराते है, जिससे दिनभर मन प्रसन्न रहता है। पंचायत द्वारा दी जा रही बेहतर सुविधा से अन्य प्रदेशों में रहते हुए लॉकडाउन के दौरान और गांव आते समय रास्ते में मिली सारी तकलीफें हम भूल गए हैं। अब तो यहां से घर जाने की भी इच्छा नहीं है। लोगों ने आशंका व्यक्त करते हुए दूसरा कारण बताया कि क्वारेंटाइन अवधि पूरा करने के बाद घर जाने पर गांव के लोग उन्हें या उनके बच्चों से दूरी बनाकर दुर्व्यवहार न करें, इसलिए भी भयभीत हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना