पुलिस ने टीम बनाकर पकड़ा:जवान व मुंशी की हत्या, आगजनी के आरोपी आठ नक्सली गिरफ्तार; 6 मई को पकड़े गए दो नक्सलियों से मिला था सुराग

सुकमा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले के भेजी थाना क्षेत्र से 4, एर्राबोर से 2 और पोलमपल्ली थाना क्षेत्र से 2 नक्सली गिरफ्तार कर बुधवार को स्थानीय न्यायालय में पेश किया गया। जहां से सभी काे जेल भेज दिया गया। पकड़े गए नक्सलियों में 15 अप्रैल को भेजी में दो सहायक आरक्षक धनीराम कश्यप व पुनेम हड़मा के हत्या के आरोपी जनमिलिशिया सदस्य मुचाकी बामन, मड़कम कोसा व माड़वी बामुन एवं डीएकेएमएस सदस्य सुन्नम लच्छा शामिल हैं। बताया गया कि पकड़े गए आरोपी भेजी थाना क्षेत्र के चिंतागुफा व मुकुंड़तोंग गांव के निवासी हैं। एएसपी सचिंद्र चौबे ने बताया कि सहायक आरक्षकों की हत्या के मामले में 6 मई को पकड़े गए दो नक्सलियों से पूछताछ में हुए खुलासे के बाद बुधवार को चार अन्य नक्सलियों की चिंतागुफा व मुकुंड़तोंग गांव से गिरफ्तार किया गया।

मुंशी की हत्या के दो आरोपी गिरफ्तार
सीआरपीएफ की 74 व 131 बटालियन के जवानों की संयुक्त कार्रवाई में एरिया डोमिनेशन के दौरान बुधवार को मिलिशिया सदस्य सोड़ी अनिल व माड़वी भीमा को गिरफ्तार कर स्थानीय न्यायालय में पेश किया। जहां से दोनों को जेल भेज दिया गया। नक्सल सेल कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक पकड़े गए नक्सली अनिल व भीमा पिछले महीने की 16 तरीख के पोलमपल्ली थाना क्षेत्र के गोरगुंडा गांव में सड़क निर्माण कार्य में लगे ठेकेदार के मुंशी आर. सूर्य भास्कर की हत्या और वाहनों में आगजनी की नक्सली वारदात में शामिल थे।

1.10 लाख के इनामी सहित दो नक्सली गिरफ्तार
नक्सल विरोधी अभियान के तहत सर्चिंग पर निकली डीआरजी और संयुक्त पुलिस बल ने बुधवार को हत्या और लूट जैसे गंभीर अपराध में शामिल 1.10 रुपए के इनामी नक्सली को गिरफ्तार किया है। एसपी कमलोचन कश्यप ने बताया कि बुधवार को थाना गंगालूर से डीआरजी का संयुक्त टीम निकली थी। बुरजी गायतापारा से 1.10 लाख के इनामी नक्सली जनताना सरकार अध्यक्ष लच्छू पूनेम को जवानों ने पकड़ा। जिसके विरूद्ध हत्या, हत्या के प्रयास, लूट, डकैती, अपहरण एवं बम विस्फोट के 7 केस दर्ज है और 3 स्थायी वारंट भी है और इसके विरुद्ध सरकार ने इनाम नीति के तहत 1 लाख एवं तत्कालीन एसपी ने 10 हजार इनाम घोषित किया है।

खबरें और भी हैं...