नक्सलियों ने फिर ली ग्रामीण की जान:जंगल कटाई और अवैध कब्जे का आरोप; पर्चे में अन्य ग्रामीणों को भी दी जान से मारने की धमकी

कोंटाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सलियों ने एक बार फिर पुलिस मुखबिरी के शक में एक ग्रामीण की हत्या कर दी। उसका शव सड़क किनारे पड़ा मिला है। सूचना मिलने पर मौके पर फोर्स को रवाना कर दिया गया है। नक्सलियों ने जंगल में कटाई और अवैध कब्जे का आरोप लगाते हुए अन्य लोगों को भी मारने की धमकी दी है। हत्या की पुष्टि SP सुनील शर्मा ने की है।

जानकारी के मुताबिक, एर्राबोर थाना क्षेत्र के कोंटा विकास खंड के अंतर्गत ग्राम कोंगड़म में नक्सलियों ने युवक की हत्या की है। उसका शव कोंगड़म से करीब 4 किमी सड़क पर पड़ा मिला है। हत्या कैसे की गई है, इसकी जानकारी अभी सामने नहीं आ सकी है। मारे गए युवक का नाम दारे नवीन बताया जा रहा है। नक्सलियों ने सोमवार देर रात उसे घर से ले जाकर मारा है।

नक्सलियों ने शव के पास फेंका पर्चा।
नक्सलियों ने शव के पास फेंका पर्चा।

शव के पास मिला पर्चा, अन्य लोगों को भी धमकी
शव के पास ही नक्सलियों का फेंका पर्चा भी मिला है। इसमें जंगल कटाई और अवैध तरीके से भूमि पर कब्जा करने का आरोप नक्सलियों ने लगाते हुए अन्य लोगों को भी धमकी दी है। पर्चे में उनके नाम भी लिखे गए हैं। इस वारदात की जिम्मेदारी नक्सलियों की कोंटा एरिया कमेटी ने ली है। साथ ही कहा है कि फिर से जंगलों को काटकर जमीन पर कब्जा करने का प्रयास किया जा रहा है।

एक महीने पहले भी मुखबिर बताकर युवक की हत्या की थी
करीब एक महीने पहले भी नक्सलियों ने एक युवक को पुलिस का मुखबिरी बताकर उसकी हत्या की थी। युवक का शव छत्तीसगढ़-आंध्र प्रदेश बॉर्डर पर मिला था। आशंका जताई गई थी कि पुलिस मुठभेड़ में मारे गए दो नक्सलियों को लेकर माड़वी राजकुमार पर शक था। इसके चलते ही नक्सलियों ने जन अदालत लगाकर उसकी हत्या कर दी थी।

छत्तीसगढ़-आंध्र बॉर्डर पर मिला शव:नक्सलियों ने जन अदालत लगाकर हत्या के आरोपी युवक की जान ली; एक साल में ऐसी 9 हत्याएं

खबरें और भी हैं...