2 करोड़ 29 लाख रुपए की धोखाधड़ी:चिटफंड कंपनी की आड़ में पैसा दोगुना करने का झांसा देकर फंसाते थे; डायरेक्टर गिरफ्तार

राजनांदगांव2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस की गिरफ्त में चिटफंड कंपनी का डायरेक्टर तरुण साहू। - Dainik Bhaskar
पुलिस की गिरफ्त में चिटफंड कंपनी का डायरेक्टर तरुण साहू।

खैरागढ़-छुईखदान-गंडई जिला पुलिस और साइबर सेल की टीम को ढाई साल पुराने चिटफंड मामले में बड़ी सफलता मिली है। 2 करोड़ 29 लाख रुपए की धोखाधड़ी करने के मामले में सर्वोदय मल्टी ट्रेड कंपनी लिमिटेड के डायरेक्टर तरुण साहू को पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया।

2020 में चिटफंड कंपनी सर्वोदय मल्टी ट्रेड कंपनी लिमिटेड माइक्रो इन्वेस्टमेंट ने लोगों की रकम को दोगुना करने का लालच देकर 2 करोड़ 29 लाख 98 हजार 460 रुपए की धोखाधड़ी की थी।चिटफंड कंपनी की आड़ में सैकड़ों लोगों से बड़ी राशि जमा करवाई गई थी। खैरागढ़ से कंपनी को संचालित किया जा रहा था। जब समयावधि पूरी हो गई, तो कंपनी के डायरेक्टर तरुण साहू समेत अन्य आरोपी फरार हो गए थे। सैकड़ों लोगों की गाढ़ी कमाई पलभर में डूब गई थी।

आरोपी तरुण साहू।
आरोपी तरुण साहू।

इसके बाद ठगी के शिकार हुए लोगों ने थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस तब से आरोपियों की तलाश कर रही थी। फिलहाल डायरेक्टर तरुण साहू को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।खैरागढ़ में पत्रकार वार्ता लेकर SP अंकिता शर्मा ने बताया कि अभी और भी आरोपी फरार हैं, जिनकी तलाश की जा रही है। तरुण साहू से पूछताछ की जा रही है, ताकि बाकी के फरार आरोपियों का पता चल सके। फिलहाल आरोपी की संपत्ति कुर्क करने की प्रक्रिया की जाएगी। बता दें कि 4 आरोपियों को पुलिस ने अगस्त 2020 में भी गिरफ्तार किया था। जिन पर धारा 173 (8) के तहत कार्रवाई की गई थी।

बलौदाबाजार-भाटापारा में भी हुई थी 27 करोड़ 61 लाख रुपए की ठगी

बलौदाबाजार-भाटापारा पुलिस ने एक हफ्ते पहले 27 करोड़ 61 लाख रुपए की ठगी करने वाले 4 आरोपियों को राजस्थान के धौलपुर से गिरफ्तार किया था। चारों आरोपी चिटफंड कंपनी गरिमा रियल एस्टेट के डायरेक्टर थे, जिन्हें 22 नवंबर को छत्तीसगढ़ लाया गया था। ये सभी किसी अन्य मामले में धौलपुर जिला जेल में बंद थे, जिन्हें वारंट पर प्रदेश लाया गया।

बलौदाबाजार-भाटापारा जिले में हुई ठगी के चारों आरोपी।
बलौदाबाजार-भाटापारा जिले में हुई ठगी के चारों आरोपी।

चिटफंड कंपनी ने रकम दोगुना करने का लालच देकर लोगों को ठगी का शिकार बनाया था। इस चिटफंड कंपनी ने 27 करोड़ 61 लाख 80 हजार 361 रुपए की ठगी की थी। इससे पहले भी गरिमा रियल एस्टेट कंपनी के 2 डायरेक्टरों को गिरफ्तार किया गया था। आरोपियों में शिवराम कुशवाहा, जितेंद्र कुशवाहा, बनवारी लाल, विजेंद्र पाल सिंह शामिल हैं। ये चारों आरोपी राजस्थान के धौलपुर के रहने वाले हैं।

CG में 27 करोड़ 61 लाख की ठगी:पैसा दोगुना और ज्यादा ब्याज देने की लालच देकर फंसाते थे; 4 आरोपी गिरफ्तार

जशपुर पुलिस ने भी चिटफंड कंपनी के आरोपी डायरेक्टर को किया था गिरफ्तार

हफ्तेभर पहले ही जशपुर पुलिस ने भी चिटफंड कंपनी के नाम पर 4 करोड़ से अधिक की ठगी करने वाले आरोपी डायरेक्टर को गिरफ्तार कर लिया था। आरोपी दिनेश सैनी को मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार कर 22 नवंबर की शाम को जशपुर लाया गया था। आरोपी ने चिटफंड कंपनी में पैसे दोगुने करने का झांसा देकर छत्तीसगढ़ के अलग-अलग जिलों में 4 करोड़ से अधिक की ठगी की थी।

जशपुर पुलिस ने भी चिटफंड कंपनी के डायरेक्टर को किया था गिरफ्तार।
जशपुर पुलिस ने भी चिटफंड कंपनी के डायरेक्टर को किया था गिरफ्तार।

मामले में दो अन्य आरोपी अभी फरार हैं, जिनकी तलाश पुलिस सरगर्मी से कर रही है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, जशपुर जिले के कुनकुरी थाना क्षेत्र में शुष्क इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के नाम से चिटफंड कंपनी संचालित हो रही थी। कंपनी का डायरेक्टर दिनेश सैनी था। कंपनी के खिलाफ अरुणा लकड़ा (35 वर्ष) ने इस साल 26 जून को ठगी का केस दर्ज कराया था। आरोपियों के खिलाफ रायगढ़ जिले के निवेशकों से 19 लाख 15 हजार 311 रुपए, दुर्ग जिले में 2 करोड़ 57 लाख, धमतरी जिले में 1 करोड़ 10 लाख और जशपुर जिले के निवेशक से 17 लाख 50 हजार रुपए की ठगी की गई है। शुष्क इंडिया प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के डायरेक्टर दिनेश सैनी को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

4 करोड़ से अधिक की ठगी:6 साल में पैसा दोगुना करने का देता था झांसा; डायरेक्टर को उज्जैन से गिरफ्तार कर छत्तीसगढ़ लाई पुलिस