गणाधिपति शांतिमुनि मसा का अजमेर में हुआ निधन:उनकी डोलयात्रा  शनिवार को शाम चार बजे अजमेर  में निकाली गई

राजनांदगांव13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शांतक्रान्ति संघ के गणाधिपति शांतिमुनि श्रीजी मसा. का शुक्रवार को रात 10.16 बजे अजमेर में देवलोकगमन हो गया। मुनिश्री ने संध्या का प्रतिक्रमण किया और उसके बाद बातचीत कर रहे थे, काफी श्रद्धालु आसपास बैठे थे, अचानक उनकी तबियत बिगड़ने लगी और कुछ ही देर में उन्होंने शरीर त्याग दिया। उनकी डोलयात्रा शनिवार को शाम चार बजे अजमेर में निकाली गई।

आचार्यश्री नानेश से शिक्षित, दीक्षित,आचार्य 1008 विजयराजजी मसा की आज्ञा में विचरण करने वाले मुनिश्री का साल 2005 में राजनांदगांव के जैन बगीचे में चातुर्मास हुआ था। राजनांदगांव की समाज सेवी संस्था समता मंच के गठन 26 जनवरी 1980 में भी उनकी भूमिका रही। उनके देवलोक गमन पर राजनांदगांव में शोक की लहर दौड़ गई। शांत क्रांति संघ जैन श्रावक संघ राजनांदगांव के सदस्यों ने अपने प्रतिष्ठान बंद रखा।

मुनिश्री की डोल यात्रा (अंतिम यात्रा) शनिवार को शाम चार बजे अजमेर (राजस्थान) के तेरापंथ भवन, सुंदर विलास से पुष्कर रोड़ स्थित श्मशान घाट के लिए निकली गई। अंतिम संस्कार में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए।

खबरें और भी हैं...