पुलिस ने की छापामार कार्रवाई:मैनेजर हिरासत में, बंद फैक्ट्री में राजस्थान के वर्कर बना रहे थे गुटखा, छापेमारी में 82 लाख का माल जब्त

राजनांदगांव2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सोमनी इलाके में स्थित फैक्ट्री में रखा सामान। और 
फैक्ट्री में दबिश देकर गुटखा जब्त करती पुलिस की टीम।    - Dainik Bhaskar
सोमनी इलाके में स्थित फैक्ट्री में रखा सामान। और फैक्ट्री में दबिश देकर गुटखा जब्त करती पुलिस की टीम।   

सोमनी इलाके में गुटखा बनाने की अवैध फैक्ट्री का भंडाफोड़ हुआ है। पुलिस व प्रशासन की टीम ने शनिवार देर शाम फैक्ट्री में छापेमारी की। जहां से 82 लाख रुपए का माल जब्त किया गया है। मौके से अवैध फैक्ट्री के मैनेजर भंवरलाल चौधरी को हिरासत में लिया गया है। जो मूल रूप से राजस्थान के रहने वाले हैं।

सीएसपी अमित पटेल ने बताया कि जोरातराई-कोपेडीह मार्ग में मौजूद एक बंद पड़ी फैक्ट्री में गुटखा बनाए जाने की सूचना मिली थी। इसके बाद टीम ने पूरी तैयारी के साथ मौके पर छापेमारी की। जहां अलग-अलग कंपनी के गुटखा बनाने का काम जारी था। पुलिस टीम ने गुटखा बनाने के लाइसेंस से लेकर दूसरे दस्तावेज की मांग की। लेकिन मैनेजर के पास कुछ भी मौजूद नहीं था। पूरी तरह से अवैध ढंग से गुटखा बनाने का काम किया जा रहा था। इसके बाद मौके पर डंप गुटखा पाउच सहित गुटखा बनाने के सामानों को जब्त किया गया। जब्त सामान की कीमत 82 लाख 14 हजार रुपए है।

फूड एंड सेफ्टी को भेजा गया गुटखे का सैंपल
सीएसपी ने बताया कि मौके से जब्त गुटखे और दूसरे केमिकल्स का सैंपल फूड एंड सेफ्टी विभाग को भेजा गया है। जहां जब्त सैंपल का परीक्षण कराया जाएगा। परीक्षण के बाद आगे की कार्रवाई शुरू होगी। इधर सूत्रों ने बताया कि अवैध फैक्ट्री में बन रहा गुटखा पूरी तरह नकली है। जिसे ब्रांडेड गुटखों के पाउच में भरकर बाजार में खपाया जा रहा था।

स्थानीय ग्रामीणों ने कहा सालभर से चल रही फैक्ट्री
अवैध फैक्ट्री के संबंध में पुलिस का दावा है कि इसका संचालन तीन माह से हो रहा है। पुलिस के मुताबिक पूछताछ में वर्कर्स और मैनेजर ने उन्हें यही जानकारी दी है। हालांकि स्थानीय ग्रामीणों के अनुसार करीब सालभर से फैक्ट्री में गतिविधियां चल रही है। फैक्ट्री को सामने से तो पूरी तरह बंद रखा जाता था। लेकिन भीतर लोग मौजूद रहते थे।

अब राजस्व टीम खंगालेगी मालिक की पूरी जानकारी
पुलिस की रेड कार्रवाई में प्रशासनिक अमला भी मौजूद था। कार्रवाई के 24 घंटे के बाद भी पुलिस के फैक्ट्री के मालिक के संबंध में जानकारी नहीं मिल सकी है। इसक चलते प्रशासनिक टीम को इसमें लगाया गया है। बंद पड़ी फैक्ट्री किसकी है। यह जानकारी अब राजस्व अमले की टीम जुटाएगी। इसके बाद पुलिस फैक्ट्री के संचालन का पूरा डिटेल लेगी।

कई अवैध फैक्ट्री, अफसर कार्रवाई से बचते रहे
सोमनी इलाके में गुटखा पाउच और पान मसाला बनाने की यह एक ही फैक्ट्री नहीं हैं। बल्कि इस ढंग से कई फैक्ट्री आसपास के में संचालित हो रही है। जो पूरी तरह अवैध हैं। लेकिन अब तक यहां जांच तक नहीं हो सकी है। विभागीय अफसरों से लेकर पुलिस प्रशासन ऐसे फैक्ट्री में कार्रवाई से बच रहे हैं। इन फैक्ट्रियों में काम करने वाले श्रमिक भी लोकल के नहीं हैं। सभी दूसरे प्रदेशों से हैं।

खबरें और भी हैं...