सेटअप के लिए प्लानिंग:नए जिलों में सुविधाएं जुटाने देख रहे जगह

राजनांदगांव9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

नवगठित जिला मोहला-मानपुर-चौकी और खैरागढ़-छुईखदान-गंडई में स्थापना की तैयारी मैदानी स्तर पर शुरू कर दी गई है। दोनों नए जिलों के लिए नियुक्त ओएसडी लगातार इन क्षेत्रों का दौरा कर रहे हैं। यहां की भौगोलिक परिस्थितियों को वे देख और समझ रहे। इसके साथ ही आने वाले समय में किस तरह से नए जिलों में दफ्तरों के साथ अन्य इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार किया जाएगा, इसकी प्लानिंग ग्राउंड लेवल पर शुरू कर दी गई है। हाल ही में केसीजी के ओएसडी आईएएस डॉ.जगदीश सोनकर और आईपीएस अंकिता शर्मा ने क्षेत्र में दौरा किया। खैरागढ़-छुईखदान-गण्डई जिला घोषित होने के बाद अनुविभाग गंडई के थाना गंडई, साल्हेवारा, बकरकट्टा एवं मोहगांव क्षेत्र के सुदूर ग्राम रामपुर, पैलीमेटा, देवपुरा, घोठा, कुम्हरवाड़ा, तेंदूभाठा का भ्रमण कर भौगोलिक स्थिति का जायजा लिया गया।

नक्सल प्रभावित क्षेत्र पहुंचे जयवर्धन और अक्षय, भौगोलिक स्थिति का किया निरीक्षण
इधर नवघोषित जिला मोहला-मानपुर-चौकी के ओएसडी एस जयवर्धन और आईपीएस यदुवल्ली अक्षय कुमार ने अतिसंवेदनशील नक्सल प्रभावित बसेली, मदनवाड़ा, सीतागांव, डोमिकला, औंधी, कोहका का भ्रमण किया। नए जिले की स्थापना के लिए लॉजिस्टिक एवं इंफ्रास्ट्रक्चर के निर्माण के लिए कार्य युद्ध स्तर पर चलाने की दिशा में लगातार क्षेत्र का दौरा किया जा रहा है। इस दौरान पुलिस थाना सीतागांव, डोमिकला कैम्प, पुलिस थाना औंधी का भ्रमण किए। जवानों से मिले और क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति को देखा।

नक्सल गतिविधियों के संबंध में सूचना संकलन एवं नक्सल ऑपरेशन तेज करने को कहा गया। साथ-साथ सीतागांव गौठान, डोंगरगांव गौठानों, सरखेड़ा व नवागांव जलाशय का निरीक्षण किया गया। इस दौरान शर्मा द्वारा थाना व चौकी के कर्मचारियों से मिलकर उनका हाल पूछा। साथ ही नक्सल प्रभावित ग्रामों में जाकर ग्रामीणों से मिलकर उनकी समस्याओं के बारे में विस्तार से जानकारी ली गई ताकि इसका समाधान कर सकें।

खबरें और भी हैं...