ज्ञापन सौंपा:जिले में खाद संकट के लिए केंद्र सरकार जिम्मेदार, कालाबाजारी पर लगे रोक

राजनांदगांवएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

खाद की कमी की शिकायतों को लेकर जिला किसान कांग्रेस ने जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा है। इसमें उन्होंने निजी दुकानदारों पर मनमाने दाम पर बिक्री और खाद की कालाबाजारी पर कार्रवाई की मांग की है। इससे पहले पुराने रेस्‍ट हाउस में जिला अध्‍यक्ष की मौजूदगी में किसान कांग्रेस की बैठक हुई। इसमें कई गंभीर विषयों पर चर्चा हुई। किसान कांग्रेस ने खाद संकट की स्थिति के लिए केंद्र सरकार को जिम्‍मेदार ठहराते हुए मोदी सरकार को किसान विरोधी बताया। जिला किसान कांग्रेस अध्यक्ष मदन साहू ने कहा कि खरीफ फसल का सीजन आ गया है।

किसान इस सीजन की फसल से ही अपनी आजीविका जुटाते हैं और दूसरी फसलों की तैयारियां करते हैं। उन्‍होंने कहा कि किसान कांग्रेस जिले के सभी क्षेत्र में किसानों के हितार्थ काम कर रही है। उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में मांग अनुरुप खाद की उपलब्धता नहीं हो पा रही है। केंद्र सरकार ने रासायनिक उर्वरकों की मांग अनुरूप आपूर्ति नहीं की जिसका असर खेती में पड़ रहा है। इसके बाद सभी किसानों को खाद की सुगम उपलब्ध्ता और निजी विक्रेताओं द्वारा सही दाम में बिक्री व जमाखोरी पर कार्रवाई के लिए कलेक्‍टर के नाम ज्ञापन सौंपा गया। बैठक में जिला अध्यक्ष मदन साहू के अतिरिक्त जिला पंचायत सदस्य महेंद्र यादव, कांति बंजारे, जनपद सदस्‍य ओमप्रकाश साहू मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...