बगिया तैयार:11 ग्राम पंचायतों की देखरेख में 18 हजार 42 पौधे अब पेड़ बनने लगे, कई तो फल भी दे रहे

राजनांदगांवएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पंचायत स्तर पर बगिया तैयार है जहां फलदार पौधे लगाए गए हैं। - Dainik Bhaskar
पंचायत स्तर पर बगिया तैयार है जहां फलदार पौधे लगाए गए हैं।

जिले के 9 ब्लॉकों में 92.90 एकड़ जमीन पर 11 ग्राम पंचायतों की मदद से 18 हजार 42 फलदार पौधे रोपे गए थे। ये पौधे अब विकसित होने लगे हैं और पेड़ बनने की ओर अग्रसर हैं। पंचायतों के साथ ही स्व सहायता समूह की महिलाओं ने इन पौधों की देखरेख की। अब पंचायत स्तर पर फलदार पौधों की बगिया तैयार हो रही है।

इन फलदार पौधों से स्व सहायता समूहों को आर्थिक आवक भी होने लगी है। इस वर्ष 9 ग्राम पंचायतों के 108 एकड़ में 20 हजार 450 पौधे रोपित करने का लक्ष्य रखा गया है। पंचायतों में तैयार की गई बगिया में आम, अमरूद, मुनगा, जामुन, काजू, कटहल, महुआ, नारियल, सीताफल, नींबू, आंवला, कदम और पपीता के पौधे लगाए गए हैं।

मुख्यमंत्री पौधरोपण प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत पिछले वर्ष 92.90 एकड़ में जिले के सभी 9 ब्लॉक के 11 ग्राम पंचायतों में सघन पौधरोपण करते हुए 18 हजार 42 पौधे लगाए गए हैं। अब यही पौधे धीरे- धीरे आकार ले रहे हैं, साल भर पौधों को सुरक्षित रखते हुए देखभाल की गई हैं। पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा देने यह योजना शुरू की गई है।

इन पंचायतों में लगाए गए पौधे
जिले में अंबागढ़ चौकी ब्लॉक के ग्राम पंचायत सोनसायटोला के 5.40 एकड़ में 864 पौधे, छुईखदान के ग्राम पंचायत खुटेलीकला के 6 एकड़ में 960 पौधे, छुरिया के ग्राम पंचायत भर्रीटोला ब गुंडरदेही के 10 एकड़ में 1600 पौधे, डोंगरगांव के ग्राम पंचायत रातापायली के 10 एकड़ में 1641 पौधे, डोंगरगढ़ के ग्राम पंचायत एलबी नगर के 6 एकड़ में 1200 पौधे, खैरागढ़ के ग्राम पंचायत बलदेवपुर के 10 एकड़ में 2000 पौधे, मानपुर के ग्राम पंचायत औंधी के 10 एकड़ में 1108 पौधे, मोहला के ग्राम पंचायत घावडेटोला के 18.50 एकड़ में 1500 पौधे, राजनांदगांव के ग्राम पंचायत इंदावानी, अंजोरा के 17 एकड़ में 7169 पौधे लगाए गए हैं।

सौंपी गई है जिम्मेदारी
बगिया में आम, अमरूद, मुनगा, जामुन, काजू, कटहल, महुआ, नारियल, सीताफल, नींबू, आंवला, कदम और पपीता के पौधों के साथ ही छायादार पीपल, बरगद, नीम जैसे पौधे भी लगाए गए हैं। जब फलदार वृक्षों से सजी यह खुबसूरत बगिया फलेगी तब सुखद परिणाम मिलेंगे। कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा एवं जिपं सीईओ लोकेश चंद्राकर के निर्देशन में विगत वर्ष सघन पौधरोपण किया गया। ग्राम पंचायतों में समूह की महिलाओं को पौधों के देखरेख की जिम्मेदारी दी गई है।

इस वर्ष यहां पौधरोपण करने की तैयारी
इस वर्ष जिले के 9 ग्राम पंचायतों में 108 एकड़ में 20 हजार 450 पौधे रोपित करने का लक्ष्य रखा गया है और इसके लिए कार्य शुरू कर दिया गया है। अम्बागढ़ चौकी के ग्राम पंचायत पीपरखार के 7 एकड़ में 2050 पौधे, छुईखदान के ग्राम पंचायत कोसमर्रा के 10 एकड़ में 2000 पौधे, छुरिया के ग्राम पंचायत मेटेपार के 20 एकड़ में 4000 पौधे, डोंगरगांव के ग्राम पंचायत पेंडरवानी के 10 एकड़ में 2000 पौधे, खैरागढ़ के ग्राम पंचायत मण्डला के 10 एकड़ में 2000 पौधे, मोहला के ग्राम पंचायत कुल्हारदोह 23 एकड़ में 4000 पौधे एवं राजनांदगांव के ग्राम पंचायत बोर्डरडीह, मोखला, बघेरा के 28 एकड़ में 4400 पौधे लगाने का लक्ष्य है।

खबरें और भी हैं...