CRPF ने नक्सलगढ़ के 30 युवाओं को घुमाया देहरादून:कभी रायपुर जाने के लिए सोचते थे, लौटने के बाद बोले- शानदार सफर, बढ़िया अनुभव

सुकमाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
CRPF के अधिकारियों के साथ युवा। - Dainik Bhaskar
CRPF के अधिकारियों के साथ युवा।

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के बेहद ही संवेदनशील इलाकों के 30 युवक-युवतियों को CRPF ने देहरादून (उत्तराखंड) की सैर करवाई है। ये ऐसे युवा हैं जिन्होंने कभी रायपुर तक का भी सफर तय नहीं किया था। लेकिन, CRPF जवान इन्हें 27 जून से 4 तक के टूर में देहरादून की खूबसूरत वादियां दिखाने लेकर गए थे। ताकि, युवाओं को बस्तर के बाहर अन्य राज्यों की संस्कृति, वेशभूषा, रहन-सहन, खान-पान, आभूषण समेत अन्य चीजों की जानकारी हो सके।

दरअसल, 13वे ट्राइबल्स यूथ एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत सुकमा जिले के अंदरूनी गांव गोण्डपल्ली, कोंडरे, मुनगा, पोलम्पली समेत अन्य गांव के युवाओं को भ्रमण के लिए ले जाया गया था। ताकि, ये लोग देश में किस तरह से विकास हो रहा है। बड़ी इमारतें, चमचमाती सड़कें इन सब चीजों को भी करीब से देख सके और लौटने के बाद अपने-अपने गांव के लोगों को बाहर की विकासशील दुनिया के बारे में बता सके।CRPF के अधिकारियों ने बताया कि, जिन युवाओं को भ्रमण पर लेकर गए थे उनमें 21 लड़के और 9 लड़कियां शामिल थीं।

अफसरों से साझा किए अनुभव

देहरादून से लौटने के बाद युवाओं ने CRPF के अधिकारियों से अपने अनुभव को साझा किए। युवाओं ने बताया कि, बस्तर से बाहर निकल कर उन्होंने बाहर की दुनिया देखी। यात्रा से लेकर ऐतिहासिक धरोहर, संस्कृति, रहन-सहन, खान-पान आभूषण समेत विभिन्न तरह की भाषा-बोली का ज्ञान मिला। सफर शानदार था और अनुभव बढ़िया। युवाओं ने कहा कि भविष्य में भी इस तरह की पहल की जानी चाहिए। ताकि बस्तर के युवा भी यहां से बाहर निकले और देश की प्रगति को देखें।