नक्सलगढ़ के युवा भरेंगे दिल्ली की उड़ान:संवेदनशील इलाके के 40 युवक-युवती पहली बार देखेंगे राजधानी, 15 अक्टूबर को भेजेगी CRPF

सुकमा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
40 युवाओं को दिल्ली भेजने की है तैयारी। - Dainik Bhaskar
40 युवाओं को दिल्ली भेजने की है तैयारी।

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के बेहद संवेदनशील इलाके के 40 युवा जल्द ही दिल्ली की उड़ान भरेंगे। वे करीब 1 सप्ताह तक दिल्ली में ही रहेंगे। दिल्ली समेत आस-पास की स्मार्ट सिटी को बेहद करीब से देखेंगे। शहरों में हो रहे विकास, बड़ी इमारतें, फैक्ट्रियां, उद्योग समेत विभिन्न डेवलपमेंट की चीजों से रूबरू होंगे। 15 अक्टूबर को CRPF 21 युवक और 19 युवतियों को दिल्ली भेजेगी।

दरअसल, 14वें ट्राइबल यूथ एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत नक्सलगढ़ के युवाओं को देश के स्मार्ट शहरों को दिखाया जा रहा है। ताकि वे इन शहरों को बेहद करीब से देखें और वहां के विकास को बस्तर और अपने गांव के लोगों को बताएं। CRPF 2वीं बटालियन ने जिले के कुकानार, फुलवगरी, सामसेट्टी, कोर्रा, एर्राबोर समेत अन्य गांव के युवाओं का चयन किया गया है। इनमें 21 युवक और 19 युवतियों शामिल हैं। जिन्हें 15 अक्टूबर को रवाना किया जाएगा। जो 21 अक्टूबर को लौटेंगे। अफसरों का कहना है कि, युवाओं को बाहर भेजने का उद्देश्य है कि वे नई सोच के साथ ही घर लौटें।

यह होगा प्रभाव

सुकमा जिले के कई गांव आज भी विकास से कोसों दूर हैं। कई गांवों में न सड़क है और न ही बिजली और न ही अस्पताल, स्कूल। इसकी सबसे बड़ी वजह नक्सलवाद है। क्योंकि नक्सली इलाके में विकास होने नहीं देते हैं। यहां के ग्रामीण कभी गांव से बाहर निकलकर दूसरे शहरों तक भी नहीं गए हैं। ऐसे में CRPF ऐसे ही इलाकों के युवाओं को देश के स्मार्ट और हाईटेक शहर लेकर जा रही है वहां के विकास कार्य दिखा रही है विकास देख उनका भी मन बदलेगा और वे भी अपने गांव में विकास चाहेंगे। जिससे माओवाद बैकफुट होगा।

खबरें और भी हैं...