मनमानी:जिपं सदस्य ने कहा आरोपी सचिव को प्रभार देना गलत

सुकमाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भाकपा नेता व जिपं सदस्य रामा सोढ़ी ने जिपं सीईओ को पत्र लिखकर पिछले कुछ महीने से मनमानी तरीके से ग्राम पंचायतों में सचिवों की तैनाती पर सवाल उठाए हैं। रामासोढ़ी ने पंचायत के निर्वाचित प्रतिनिधियों की सहमति व कार्य कुशलता के आधार पर पंचायतों में सचिवों की तैनाती करने की मांग की है।

रामा सोढ़ी ने कहा कि कार्य कुशलता अच्छी नहीं हाेने के बावजूद सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी नेताओं के करीबी कुछ सचिवों को मनमाने तरीके से दो-तीन पंचायतों का प्रभार दिया गया है।रामा सोढ़ी ने बताया कि कोंटा ब्लाॅक के एलमपल्ली के सचिव के रूप में पदस्थ रहे गिरीश कश्यप पर पंचायत के सरपंच ने ही सबूतों के साथ लाखों रुपए गबन करने का आरोप लगाया था।

जांच में दोषी पाए जाने के बाद भी मामले की रिपोर्ट को दबा दिया गया। कार्रवाई नहीं हुई। कार्रवाई करने के बजाय गिरीश कश्यप को गादीरास ग्राम पंचायत में पदस्थ कर दिया गया। इसके अलावा उसे चिंगावरम ग्राम पंचायत का अतिरिक्त प्रभार भी दे दिया गया है। यहां विरोध के बावजूद सचिव द्वारा कार्य प्रभार देने के दबाव बनाया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...