योग विज्ञान चिकित्सा शिविर का समापन समारोह:योग विज्ञान चिकित्सा शिविर का समापन लोगों का वजन तीन किलो तक हुआ कम

सूरजपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सरस्वती शिशु मंदिर सूरजपुर में आयोजित दस दिवसीय योग विज्ञान चिकित्सा शिविर का समापन समारोह हुआ। पतंजलि योग समिति भारत स्वाभिमान न्यास द्वारा आयोजित दस दिवसीय योग विज्ञान चिकित्सा शिविर के समापन समारोह के मुख्य अतिथि राम सेवक पैकरा पूर्व गृहमंत्री व भीमसेन अग्रवाल पूर्व अध्यक्ष पाठ्य पुस्तक निगम की अध्यक्षता में हुआ। पतंजलि योग समिति के जिला प्रभारी राम प्रताप राजवाड़े ने बताया कि पहली बार दस दिवसीय योग शिविर का आयोजन किया गया।

पहले दिन से ही शिविर में भाग लेने से पहले 69 लोगों का स्वास्थ्य विभाग टीम ने डाॅ. कुलदीप द्विवेदी के नेतृत्व में जांच की। इसमें पाए गए डायबिटीज, शुगर व मोटापा का निरंतर रोजाना रोगानुसार योगाभ्यास कराया। दस दिन बाद फिर जांच की गई तो पाया कि अधिकांश लोगों का डायबिटीज व ब्लड प्रेशर सामान्य पाया गया।

मोटापा वालों का 3 से 4 किलो वजन कम हुआ। इन्हें बताया गया कि दैनिक जीवनचर्या में यदि योग आसन प्राणायाम को नियमित की जाए और खान-पान में नियंत्रण रखकर गैर संचारी रोगों जैसे डायबिटीज, बीपी, थायराइड कैंसर से काफी हद तक मुक्ति पा सकते हैं।

कार्यक्रम का संचालन भारत स्वाभिमान न्यास के अध्यक्ष राजेन्द्र पाठक ने किया। दस दिवसीय योग विज्ञान चिकित्सा शिविर को सफल बनाने में भीमसेन अग्रवाल, राजेन्द्र पाठक, रामप्रताप राजवाड़े, एसपी मिश्रा, अशोक कुमार जायसवाल, रुद्रेश्वर विसेन, टेम नारायण राजवाड़े, श्रीकांत पांडे, पीआर तोमर, काजल साहू, रूबी चौधरी, रजनी सिंह, वेदमती साहू, कविता सिंह आदि का सहयोग रहा।

नियमित योग कक्षा संचालित करने की मांग
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे भीमसेन अग्रवाल ने कहा कि दस दिवसीय योग शिविर आयोजन से मुझे स्वयं डायबिटीज में काफी लाभ हुआ है। सरस्वती शिशु मंदिर प्रांगण दस दिवसीय शिविर के बाद भी यहां पर नियमित योग कक्षा संचालित करने की बात कही। शिविर में भाग लेने वाले शिविरार्थियों को पतंजलि योग समिति भारत स्वाभिमान न्यास द्वारा योग प्रशिक्षण प्रमाण-पत्र प्रदान किया। सरस्वती शिशु मंदिर संस्था की ओर से योग शिक्षकों व स्वास्थ्य विभाग की टीम को प्रशस्ति-पत्र प्रदान किया गया।

खबरें और भी हैं...