पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

धोखाधड़ी का मामला:सरकारी नौकरी के फर्जी नियुक्ति पत्र देकर ठगी करने वाले 2 अरेस्ट

फरीदाबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो

सरकारी नौकरी के फर्जी नियुक्ति पत्र देकर लोगों से ठगी करने वाले दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनसे विभिन्न कागजात सहित अन्य सामान बरामद हुआ है। एसपी दीपक गहलावत ने बताया कि मीसा गांव निवासी उमेश कुमार ने चांदहट थाना पुलिस को सात अप्रैल 2021 को शिकायत दी थी। इसमें उनका कहना था कि पलवल कोर्ट में चपरासी के लिए उन्होंने आवेदन किया था। इसमें उन्हें वेटिंग में रखा गया था।

इस दौरान उक्त आरोपियों ने उन्हें फोन पर सूचना देकर फर्जी नियुक्ति पत्र जारी कर 26 हजार रुपए हड़प लिए। नियुक्ति पत्र फर्जी पाए जाने पर उन्होंने चांदहट थाने में केस दर्ज करा दिया। इसकी जांच चांदहट थाना पुलिस व साइबर सेल को सौंप दी गई। दोनों टीमों ने संयुक्त रूप से जांच करते हुए फर्जीवाड़े में इस्तेमाल किए गए बैंक खाते एवं मोबाइल नंबरों का रिकॉर्ड जांचा।

पुलिस ने जांच में मुख्य आरोपी मंडावली नई दिल्ली निवासी अर्जुन टाक को दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया। उससे पूछताछ के बाद उसकी निशानदेही पर उसके सहयोगी लक्ष्मी नगर नई दिल्ली निवासी विनोद कुमार को भी दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों का एक साथी मथुरा जिले के सुरीर निवासी मनोज फरार है। उसकी तलाश में पुलिस लगी है। एसपी ने बताया कि आरोपियों से अभी तक की पूछताछ में तीन मामले पलवल जिले के, तीन मामले फरीदाबाद जिले के व अन्य मामले दूसरे जिले व राज्यों के हैं।

खबरें और भी हैं...