पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

डीसी का आदेश:कोरोना की तीसरी संभावित लहर से निपटने की तैयारियां पूरी करें सभी विभाग

फरीदाबाद23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फरीदाबाद। डीसी यशपाल यादव ने कोविड को लेकर जारी गाइडलाइन का पालन करने के निर्देश दिए। - Dainik Bhaskar
फरीदाबाद। डीसी यशपाल यादव ने कोविड को लेकर जारी गाइडलाइन का पालन करने के निर्देश दिए।
  • बच्चों की कोविड केयर सुविधा, जरूरी यंत्रों, दवाओं, ऑक्सीजन, रेफरल ट्रांसपोर्ट और टेलीमेडीसिन की व्यवस्था की भी समीक्षा की।

डीसी ने कहा कि कोविड-19 का खतरा अभी टला नहीं है और संभावित तीसरी लहर को लेकर हमें और अधिक सतर्क रहना होगा। इसके लिए सभी विभाग अपने-अपने स्तर पर तैयारियां रखें और कोविड-19 को लेकर जारी की गई गाइडलाइन का गंभीरता से पालन करें। डीसी यशपाल यादव कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर को लेकर वीडियो कांफ्रेंस के जरिए जिला कोआर्डिनेशन कमेटी की मीटिंग में विभिन्न विभागों की तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे।

ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज में सुविधाएं बढ़ाई जा रहीं

डीसी ने कहा ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज में सुविधाओं को और अधिक बढ़ाया जा रहा है। कॉलेज के अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि उन्हें अगर कोई भी आवश्यकता है तो उसे समय से पूरा करें। उन्होंने कहा मेडिकल काॅलेज में बच्चों के वार्ड में आईसीयू बेड बढ़ाए जाएं। उन्होंने कहा यहां 80 बेड बच्चों के लिए पहले से ही चिह्नित किया गया है। इनकी संख्या और अधिक बढ़ाई जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि छांयसा मेडिकल काॅलेज को जल्द सभी जरूरी सुविधाओं के साथ तैयार करें और वहां चिकित्सा सुविधाओं की भी शुरुआत करें। डीसी ने कहा यहां 100 बिस्तर की सुविधा पहले से ही है और 50 वेटिंलेटर भी हैं। इसके साथ ही इसमें एसएनसीयू और सभी सुविधाओं से युक्त बच्चों का वार्ड भी तैयार किया जाए।

बीके अस्पताल में बनाया जा रहा अस्थायी अस्पताल

बीके अस्पताल में बिस्तरों की स्थिति और वहां टाटा स्टील की ओर से बनाए जा रहे अस्थाई अस्पताल को लेकर भी उन्होंने समीक्षा की। उन्होंने कहा यहां 100 में से 30 बिस्तर बच्चों के लिए निर्धारित किए गए हैं। इसके साथ ही बच्चों के वार्ड में पहले से मौजूद 11 वेंटिलेटर के साथ-साथ 26 अन्य की भी व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने अल्फला मेडिकल काॅलेज व निजी अस्पताल संचालकों से भी आह्वान किया कि वे अपने यहां बिस्तरों की संख्या बढ़ाएं। अगर तीसरी लहर आती है और कोविड-19 के मामले बढ़ते हैं तो इसके लिए सभी को तैयार रहना होगा।

टीकाकरण का लक्ष्य जल्द से जल्द पूरा किया जाए

डीसी ने कहा कि अस्पतालों में बिस्तरों की सुविधा व खासकर बच्चों के वार्डों की स्थिति की प्रत्येक सप्ताह टास्क फोर्स की मीटिंग में समीक्षा की जाए। उन्होंने इसके लिए एक जिला स्तरीय प्लान तैयार करने के निर्देश दिए। मीटिंग में जिले में कोविड-19 टीकाकरण अभियान की समीक्षा भी की। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जल्द से जल्द टीकाकरण का लक्ष्य पूरा किया जाए। जिससे हम किसी भी खतरे से बच सकें। डीसी ने पुलिस और नगर निगम के अधिकारियों को भी कंटेनमेंट व कोविड नियंत्रण को लेकर जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए।

बच्चों की कोविड केयर सुविधा की डीसी ने समीक्षा की

डीसी ने मीटिंग में बच्चों की कोविड केयर सुविधा ( वार्ड, एचडीयू, आईसीयू) में जरूरी यंत्रों, दवाओं, आक्सीजन, रेफरल ट्रांसपोर्ट और टेलीमेडीसिन की व्यवस्था की भी समीक्षा की। डेटा व पोर्टल मैनेजमेंट, डाक्टरों, नर्सों व फील्ड स्तर के कर्मचारियों की बेहतर ट्रेनिंग, सामु‌दायिक स्तर पर प्रचार व जागरुकता अभियान को गति देने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि स्कूलों को खोलने से पहले सभी जरूरी कदम उठाएं। मीटिंग में एडीसी सतबीर सिंह मान, एसडीएम परमजीत सिंह चहल, एसडीएम बड़खल पंकज सेतिया, सीएमओ डा. रणदीप सिंह पूनिया, ईएसआईसी मे‌डिकल कालेज के डीन डा. असीम दास, रजिस्ट्रार डा. एके पांडेय, अल्फला मेडिकल कालेज के निदेशक डा. पीके सिंह, अटल बिहारी वाजपेयी छांयसा मेडिकल कालेज के निदेशक डाॅ. गौतम गोले सहित सभी विभागों के अधिकारी मौजूद थे।