पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सुधार की कवायद:बारिश बंद होते ही शहर की क्षतिग्रस्त सड़कों की कराई जाए मरम्मत, नालों पर हुए अवैध कब्जे हटवाएं जाएं

फरीदाबाद9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शनिवार को शहर में हुई मूसलाधार बारिश। - Dainik Bhaskar
शनिवार को शहर में हुई मूसलाधार बारिश।

बारिश के बाद शहर में होने वाले जलभराव और टूटी सड़कों से हो रही बदनामी के बाद निगम प्रशासन हरकत में आया है। रविवार को निगम कमिश्नर यशपाल यादव ने इंजीनियरिंग विभाग के अधिकारियों की बैठक ली और उन्हें बारिश खत्म होने के बाद योजना बनाकर सड़कों की मरम्मत कराने पर जोर दिया। इसके अलावा नालों पर कब्जा हुए स्थानों की पहचान कर उन्हें कब्जा मुक्त करा नालों की सफाई पर जोर दिया ताकि जलभराव की समस्या कम की जा सके।

वहीं दूसरी ओर कमिश्नर ने वार्ड समिति के सदस्यों, सीएसआर भागीदारों, गैर सरकारी संगठनों और कूड़ा उठाने वाले ठेकेदार के साथ बैठक कर वार्ड-32 की सफाई व स्वच्छता के बारे में विचार-विमर्श किया। उन्होंने डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन और सफाई व्यवस्था पर जोर दिया। उन्होंने साफ कहा कि इन कामों में किसी प्रकार की लापरवाही नहीं होनी चाहिए।

जर्जर हो चुकी है सड़कें

स्मार्ट िसटी फरीदाबाद की सभी प्रमुख सड़कें टूट चुकी है। सड़कों पर एक एक फुट के गढ्‌ढे बन चुके हैं। इससे एक ओर जहां ट्रैफिक स्लो रहता है वहीं दो पहिया वाहनों के लिए जानलेवा साबित हो सकता है। शहरवासियों की मानंें तो वीआईपी सड़क सेक्टर 11-12 डिवाइडिंग रोड, सेक्टर 10-11 डिवाइडिंग रोड, सेक्टर 8-9 डिवाइडिंग रोड, वाईएमसीए बाईपास रोड, सेक्टर 21सी डिवाइडिंग रोड, सेक्टर 22-23 रोड, सेक्टर 16, 17, 18, 19, सेक्टर 41-21 सी डिवाइडिंग रोड गडढों में तब्दील हो गयी हैं।

बड़े नाले व नालियों की सफाई कराई जाए

निगम कमिश्नर ने इंजीनियरिंग विभाग को आदेश दिया कि वह फील्ड में जाएं और उन नालों को चिन्हित करें जहां अवैध कब्जे हुए हैं। समय रहते सीवर लाइनों, बड़े नालों, नालियों की सफाई कराई जाए। ताकि आने वाली बरसात के समय गलियों और सड़कों पर जलभराव न हो सकें। उन्होंने कहा कि सभी एक्सईएन नालों आदि के किनारों पर संबंधित ज्वाइंट कमिश्नर के साथ् मिलकर कब्जे हटवाएं।

हर घर में पानी का मीटर लगवाना सुनिश्चित हो

निगम कमिश्नर ने कहा कि हर घर में पानी के मीटर होने चाहिए। इस पर तुरंत काम शुरू किया जाए ताकि पानी का उपयोग करने वालों से शुल्क वसूला जा सके। बैठक में उन्होंने स्वच्छ भारत मिशन के तहत निर्मित सार्वजनिक शौचालयों का रखरखाव व साफ सफाई की समीक्षा करते हुए इनके रखरखाव के लिए कोई एजेन्सी नियुक्त करने पर जोर दिया। इसके अलावा सभी एक्सईएन से कहा कि उनके डिवीजन में चल रहे अवैध आरओ प्लांट को तत्काल बंद कराया जाए।

जनसहयोग से क्लीन फरीदाबाद-ग्रीन फरीदाबाद बनाने पर जोर
यशपाल यादव ने वार्ड समिति के सदस्यों, सीएसआर भागीदारों, गैर सरकारी संगठनों और कूड़ा उठाने वाले ठेकेदार के साथ भी बैठक की। बैठक में वार्ड-32 को क्लीन एवं ग्रीन बनाने हेतु अपने विचार सांझा किए और सुझाव दिए। बैठक में वार्ड समिति के सदस्यों को अपने वार्ड में कचरा प्रबंधन से संबंधित मुद्दों की पहचान करने और अपने वार्ड के भीतर आरडब्ल्यूए, मार्केट वेलफेयर एसोसिएशन और मोहल्ला सभाओं का एक नेटवर्क बनाने के लिए कहा।

वार्ड 32 को कचरा मुक्त करने का संकल्प

निगमायुक्त ने कहा कि स्वच्छ फरीदाबाद-सुंदर फरीदाबाद अभियान के तहत हमारा पहला प्रयास वार्ड-32 को कचरा मुक्त बनाना है। उन्होंने कहा कि अगर निगम कर्मचारियों, वार्ड समिति के सदस्यों, सीएसआर भागीदारों, गैर सरकारी संगठनों और कूड़ा उठाने वाले ठेकेदार तथा जनता का सहयोग रहा तो 2 अक्टूबर 2021 तक वार्ड-32 को कचरा मुक्त कर देंगे।