• Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • Faridabad
  • Cardiologist Dr. Sanjay Kumar Said, 17.9 Million People Die Every Year Due To Heart Attack, One Should Not Take The Symptoms Lightly

दिल को लेकर ना बरतें लापरवाही:कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. संजय कुमार बोले, हार्ट अटैक से हर साल 17.9 मिलियन लोगों की जाती है जान, किसी को लक्षण को हल्के में न लेने की सलाह

फरीदाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीनियर कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. संजय कुमार - Dainik Bhaskar
सीनियर कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. संजय कुमार

फोर्टिस अस्पताल के सीनियर कार्डियोलाॅजिस्ट डॉ. संजय कुमार ने कहा कि भाग दौड़ भरी जिंदगी में लोग अब कई गंभीर बीमारियों का शिकार हो रहे हैं। उनमें से एक हार्ट अटैक भी है। इस बीमारी को हल्के में लेना जीवन के लिए खतरनाक हो सकता है। उनका कहना है कि सीने में किसी प्रकार के दर्द काे हल्के में नहीं लेना चाहिए। वह बुधवार को विश्व हार्ट दिवस पर लोगों को जागरुक कर रहे थे।

डॉ कुमार का कहना है कि दुनियाभर में हर साल करीब 17.9 मिलियन लोगों की जानें जाती हार्ट अटैक से जाती है। ओपीडी में हर दिन 30-35 साल के युवाओं से लेकर 80 साल तक की उम्र के लगभग 60-70 मरीज रोजाना अस्पताल पहुंच रहे हैं। जिन्‍हें हृदय संबंधी रोगों के इलाज के लिए दवा या फिर अन्‍य किसी प्रकार के इलाज की जरूरत होती है। सिर्फ फिट दिखने या जिम जाने वाले लोगों के दिल की सेहत भी दुरुस्त हो, ऐसा जरूरी नहीं है। कई तरह के कारण होते हैं जो इन्हें बढ़ावा दे सकते हैं। इनमें प्रमुख हैं जीवनशैली जनित विकार, शारीरिक गतिविधि का अभाव, तनावपूर्ण जीवन, नींद की कमी, शराब का सेवन, धूम्रपान, अत्य‍धिक सेप्लीमेंटस लेना आदि हार्ट अटैक का कारण बन सकता है।

हार्ट अटैक के ये होते हैं लक्षण

डॉक्टरों का कहना है कि हार्ट अटैक के कई लक्षण होते हैं। जैसे सीने में दर्द, सीढ़ियां चढ़ते ही थकावट, सांस लेने में परेशानी, पीठ के ऊपरी हिस्से में दर्द, सीने में बेचैनी, भारीपन महसूस होना, मितली या उल्टी करने का मन करना। भूख कम लगना, नींद कम आना, नींद बीच में टूट जाना आदि।

ऐसे रखें अपना ध्यान

हार्ट अटैक से बचने के लिए ज्यादा वसा (कैलरी) वाले खाने से बचना चाहिए। दिल को स्वस्थ रखने के लिए अखरोट, बादाम, अलसी, सोयाबीन आदि कासेवन करना चाहिए। नियमित रूप से व्यायाम करना चाहिए।

खबरें और भी हैं...