कानूनी जागरुकता की कोशिश:डालसा की वैन घर-घर जाकर करेगी लोगों को जागरूक, न्यायधीश ने हरी झंडी दिखाकर किया  रवाना

फरीदाबाद6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
वैन का मुख्य उद्देश्य विशेष डोर टू डोर सपंर्क कर कानूनी साक्षरता का प्रचार प्रसार करना है। - Dainik Bhaskar
वैन का मुख्य उद्देश्य विशेष डोर टू डोर सपंर्क कर कानूनी साक्षरता का प्रचार प्रसार करना है।

जिला सत्र एवं न्यायधीश व जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के चेयरमैन वाईएस राठौड़ के निर्देश पर गुरुवार को स्वतंत्रता 75वें दिवस उपलक्ष्य में आजादी के अमृत महोत्सव के तहत डालसा द्वारा जागरूकता मोबाइल वैन को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया गया। मोबाइल वैन को एसीजेएम तैयब हुसैन ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

सीजेएम कम डालसा के सचिव मंगलेश कुमार चौबे ने बताया कि "आजादी का अमृत महोत्सव" के तहत मोबाइल वैन स्वराज मजदा को एसीजेएम तैयब हुसैन ने अदालत परिसर में हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस वैन का मुख्य उद्देश्य विशेष डोर टू डोर सपंर्क कर कानूनी साक्षरता का प्रचार प्रसार करना है। डालसा टीम मोबाइल वैन के जरिये गांव भटोला, फतुपुरा, फरीदपुर, मिर्जापुर, नवादा, नीमका, तिगांव और सदपुरा जागरुकता अभियान चलाया। उन्होंने इस दौरान शिकायत के 5 आवेदन दायर भी किए गए हैं। डालसा के पैनल अधिवक्ताओं ने 50 लोगों को कानूनी सहायता प्रदान की और 2000 कानूनी साक्षरता पुस्तकें और 1000 पर्चे, पूर्व गिरफ्तारी और गिरफ्तारी, मानदंड, लोक अदालत आदि पर वितरित किए। इस अवसर पर पैनल अधिवक्ता आरसी गोला, जीत कुमार रावत, धनेंद्र प्रकाश गर्ग, शिवकुमार, रामवीर तंवर, राजेंद्र गौतम, निबरास अहमद, रविंद्र गुप्ता, मनमीत कौर, दीपशिखा भारद्वाज, उमा चौहान, संगीता भाटी उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...