पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लूटपाट गिरोह के 2 आरोपी 24 घंटे में ही गिरफ्तार:पूछताछ में आरोपी बोले- वे अपने खर्चे व अपराध की दुनिया में नाम कमाने के लिए करते थे वारदातें

फरीदाबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपियों ने बताया लूट की वारदात को अंजाम देने के लिए उन्होंने थाना छांयसा क्षेत्र से 16 अप्रैल को एक बाइक छीनी थी। - Dainik Bhaskar
आरोपियों ने बताया लूट की वारदात को अंजाम देने के लिए उन्होंने थाना छांयसा क्षेत्र से 16 अप्रैल को एक बाइक छीनी थी।
  • इससे पहले उक्त आरोपी दर्जनभर के करीब वारदातों को अंजाम दे चुके हैं और जेल की हवा भी खा चुके हैं।

एक दिन पहले गुड़गांव नहर के पास टैक्सी ड्राइवर व एक सवारी से लूटपाट करने वाले गिरोह के दो आरोपियों को पुलिस ने 48 घंटे में ही गिरफ्तार कर लिया। इनकी पहचान चिंटू उर्फ चरणजीत व राहुल बंगाली के रूप में हुई है। पूछताछ में आरोपियों ने कहा कि वे खर्चे की पूर्ति व अपराध की दुनिया में नाम कमाने के लिए वारदातें करते थे। दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश कर 3 दिन के पुलिस रिमांड पर ले लिया गया है।

टैक्सी ड्राइवर व यात्री को लूटा था

क्राइम ब्रांच सेक्टर-48 के अनुसार टैक्सी ड्राइवर विनोद ने शिकायत में कहा कि वह 6 मई की रात स्विफ्ट गाड़ी में राजेश नाम की सवारी को दिल्ली के नरेला से बल्लभगढ़ के सेक्टर-3 छोड़ने जा रहे थे। रात करीब 12 बजे जब वह गुड़गांव नहर के पास पहुंचे तो बाइक सवार चार आरोपियों ने उनकी गाड़ी के आगे बाइक लगा दी। इन लड़कों में से दो ने पिस्तौल ले रखी थी। इन्होंने शीशा तोड़कर गाड़ी की चाभी निकाल ली। इसके बाद ड्राइवर विनोद व राजेश को गाड़ी से नीचे उतार लिया और उनसे उनके बटुआ मांगे। ड्राइवर ने जब बटुआ देने से मना किया तो आरोपियों ने पिस्तौल से दो हवाई फायर किए। इसके बाद ड्राइवर व राजेश दोनों डर गए और उन्होंने अपना-अपना बटुआ निकाल कर आरोपियों को दे दिया। ड्राइवर के बटुए में 2000 व राजेश के बटुए में 8500 रुपए थे। आरोपियों ने राजेश का मोबाइल भी छीन लिया। इसके बाद ड्राइवर से गाड़ी छीनकर भाग गए।

सिटी थाने में दर्ज हुआ था केस

विनोद की शिकायत पर थाना सिटी बल्लभगढ़ में लूट, रंगदारी व आर्म्स एक्ट की धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया था। क्राइम ब्रांच सेक्टर-48 प्रभारी राकेश कुमार की अगुवाई में एक टीम का गठन किया गया। इसने मात्र 24 घंटे में ही 2 सदस्यों को तिगांव रोड पेट्रोल पंप के पास से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में आरोपियों ने कहा कि वे अपने खर्चे की पूर्ति व अपराध की दुनिया में अपना नाम कमाने के लिए वारदातें करते थे। इससे पहले वे दर्जनभर के करीब वारदातों को अंजाम दे चुके हैं और जेल की हवा भी खा चुके हैं।

आरोपी जेल में एक तिहाई सजा काटने के बाद जमानत पर बाहर आए थे और आते ही उन्होंने फिर से लूट की वारदात करने लगे। आरोपियों ने बताया लूट की वारदात को अंजाम देने के लिए उन्होंने थाना छांयसा क्षेत्र से 16 अप्रैल को एक बाइक छीनी थी। आरोपियों के खिलाफ सेक्टर 58 व आदर्श नगर थाने में हत्या के प्रयास व आर्म्स एक्ट की धाराओं के तहत 2 मामले दर्ज हैं। आरोपियों ने बताया कि इस लूट में उनके दो अन्य साथी युवराज उर्फ छोटा व अनीश भी शामिल थे। इनकी पुलिस तलाश की जा रही है। आरोपियों के कब्जे से छीनी गई स्विफ्ट गाड़ी बरामद कर ली गई है।

खबरें और भी हैं...