पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

खोरी कॉलोनी पुनर्वास मामला:प्रभावित लोगों में 950 लोग ही पुनर्वास के लिए पाए गए पात्र, एक सप्ताह में नगर निगम जारी करेगा प्राेविजनल अलॉटमेंट

फरीदाबाद11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अब तक पुनर्वास के लिए कुल 2500 आवेदन आ चुके हैं। - Dainik Bhaskar
अब तक पुनर्वास के लिए कुल 2500 आवेदन आ चुके हैं।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर नगर निगम खोरी कॉलोनी के प्रभावित लोगों लिए पुनर्वास की व्यवस्था करने की कवायद तेज कर दी है। चीफ इंजीनियर रामजीलाल की अगुवाई में टीम गठित कर डबुआ कॉलोनी और बापूनगर में बने फ्लैट की जांच कराई जा रही है। ये देखा जा रहा है कि इन दोनों स्थानों पर कितने फ्लैट अभी प्रारंभिक स्तर पर रहने लायक हैं। गुरुवार को रिपोर्ट तैयार कर निगम कमिश्नर को सौंपी जाएगी। इसके बाद 20 सितंबर तक पात्र लेागों को प्राेविजनल अलॉटमेंट लेटर जारी कर दिया जाएगा। बताया जा रहा है कि पुनर्वास के लिए अब तक करीब 2500 लोग आवेदन कर चुके हैं। इनमें महज 950 लोग की सरकार की नीतियों के अनुसार पात्र पाए गए हैं।

सुप्रीम कोर्ट का ये है आदेश

बता दें कि मंगलवार को पुनर्वास् के मामले की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने सरकार पर नाराजगी जताई और खोरी कॉलोनी के प्रभावित लोगों केा एक सप्ताह के अंदर पुनर्वास सुनिश्चित करने का आदेश दिया। क्योंकि सरकार ने पुनर्वास के लिए 2022 तक का समय मांगा था। इस पर कोर्ट ने कहा कि प्रभावित लोगों को पुनर्वास एक सप्ताह में सुनिश्चित किया जाए। पात्र लोगों की जांच कर उन्हें प्राेविजनल अलॉटमेंट जारी किया जाए।

जेएनएनयूआरएम के तहत डबुआ कॉलोनी में बनाए गए फ्लैट
जेएनएनयूआरएम के तहत डबुआ कॉलोनी में बनाए गए फ्लैट

आवेदन के लिए डेट 15 नवंबर तक बढ़ाई

निगम कमिश्नर यशपाल यादव ने बताया कि अब तक पुनर्वास के लिए कुल 2500 आवेदन आ चुके हैं। इनकी स्क्रूटनी की जा चुकी है। इनमें से महज 950 आवेदन ही पात्र मिले हैं। उन्होंने बताया कि अभी तक आवेदन करने की अंतिम तिथि 15 अक्टूबर तक थी लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर इसे बढ़ाकर 15 नवंबर तक कर दिया गया है। यानी प्रभावित लेाग 15 नवंबर तक पुनर्वास के लिए आवेदन कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि जिन लोगों के आवेदन कैंसिल किए गए हैं उनकी सुनवाई के लिए एक कमेटी बनाई जा रही है। वहां लेाग अपनी बात रख सकते हैं। कमेटी 15 दिनों में शिकायतों का निस्तारण करेगी।

जेएनएनयूआरएम के तहत डबुआ कॉलोनी में बनाए गए फ्लैट की अभी ये है हालत
जेएनएनयूआरएम के तहत डबुआ कॉलोनी में बनाए गए फ्लैट की अभी ये है हालत

100-100 लाेगों को बुलाकर किया जाएगा आवंटन

निगम कमिश्नर ने बताया कि इंजीनियरिंग विभाग की टीम डबुआ कॉलोनी और बापूनगर में बने फ्लैटों का निरीक्षण कर गुरुवार शाम तक रिपोर्ट देगी। इसके बाद जितने फ्लैट रहने लायक हैं उन्हें प्रोविजनल अलॉटमेंट जारी करना शुरू कर दिया जाएगा। 100- 100 लोगों को बुलाकर आवंटन किया जाएगा। इसके पहले वहां एक सप्ताह में साफ सफाई का काम पूरा कर लिया जाएगा। लोगों के लिए पानी की व्यवस्था टैंकरों से की जाएगी। साथ ही मोबाइल टायलेट लगाए जाएंगे। बाकी फ्लैटों में मेंटीनेंस का काम चलता रहेगा।

खबरें और भी हैं...