पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

निगम की तैयारी:पानी की फिजूलखर्ची पर रोक लगाने के लिए हर घर में लगेंगे मीटर, इंजीनियरिंग विभाग ने की तैयारी

फरीदाबाद9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
निगम अधिकारी अब सर्वे करा रहा है। रिपोर्ट तैयार कर शुरू की जाएगी योजना। - Dainik Bhaskar
निगम अधिकारी अब सर्वे करा रहा है। रिपोर्ट तैयार कर शुरू की जाएगी योजना।
  • अभी तक महज 50 हजार घरों में ही लग पाया है मीटर

शहर में पानी की फिजूल खर्ची रोकने के लिए नगर निगम ने योजना बनाई है। अब पूरे शहर में मकानों का सर्वे कर सभी घरों में पानी का मीटर लगाया जाएगा। इसके लिए इंजीनियरिंग विभाग को निर्देश दिए गए हैं। विभाग अब ऐसे घरों को चिन्हित करना शुरू कर दिया है कि किन-किन घरों में पानी के मीटर नहीं लगे हैं। उन सभी घरों में मीटर लगाए जाएंगे ताकि लोग पानी का बिल मीटर के हिसाब से जमा कराएं। निगम अधिकारियों का कहना है कि कोई भी शहरवासी मीटर लगवाने के लिए संबंधित जेई, एसडीओ और एक्सईएन से संपर्क कर सकता है। मीटर लगने से पानी की बर्बादी भी रुकेगी।

ज्यादा पानी की हो रही बर्बादी
निगम अधिकारियों का कहना है कि मीटर न लगे होने से सहर में भारी मात्रा में पानी की बर्बादी होती है। लोग नल यूं ही खोलकर छोड़ देते हैं। ऐसे में यदि मीटर लग जाएगा तो लोग पानी की बर्बादी खुद रोकेंगे। एक अनुमान के मुताबिक 5 से 7 एमएलडी पानी बर्बाद हो रहा है।

अब तक महज 50 हजार घरों में लगे हैं मीटर
करीब 22 लाख से ज्यादा आबादी वाले शहर में हर रोज 300 एमएलडी पानी की जरूरत है, लेकिन नगर निगम 250 एमएलडी पानी की सप्लाई कर रहा है। शहर में इस वक्त 2 लाख 60 हजार प्रॉपर्टी है। इसमें से 2 लाख के करीब आवासीय हैं। इनमें महज 50 हजार के करीब घरों में ही पानी के मीटर लगे हुए हैं। बाकी के 2 लाख 10 हजार घरों में बिना मीटर के पानी की सप्लाई हो रही है। निगम एसई रवि शर्मा ने बताया कि कमिश्नर की तरफ से आदेश आए हैं। जिन घरों में मीटर नहीं लगे हैं वहां सर्वे कर मीटर लगवाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपकी सकारात्मक और संतुलित सोच द्वारा कुछ समय से चल रही परेशानियों का हल निकलेगा। आप एक नई ऊर्जा के साथ अपने कार्यों के प्रति ध्यान केंद्रित कर पाएंगे। अगर किसी कोर्ट केस संबंधी कार्यवाही चल र...

और पढ़ें