पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही:सरकार डिजिटल पेमेंट को दे रही बढ़ावा तो निगमकर्मियों को क्रेडिट कार्ड से पेमेंट लेने की जानकारी तक नहीं, धक्के खा रहे शहरवासी

फरीदाबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नगर निगम फरीदाबाद - Dainik Bhaskar
नगर निगम फरीदाबाद
  • रोजाना सैकड़ों लोग आए हैं टैक्स जमा कराने लेकिन, अधिकारी से लेकर कर्मचारी तक पीओएस मशीन से पेमेंट लेने की नहीं है जानकारी
  • शहरवासियों को एटीएम बूथ भेजकर वहां से नकद कैश मंगाकर जमा कर रहे टैक्स, मशीन का प्रयोग करने से बच रहे कर्मचारी

राज्य सरकार नगर निकायों में टैक्स जमा कराने के लिए डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने की बात करती है। दूसरी ओर कर्मचारियों को डिजिटल पेमेंट लेने की जानकारी तक नहीं है। टैक्स जमा कराने वाले शहरवासी अपना क्रेडिट और डेबिट कार्ड लेकर निगम में चक्कर काटते रहते हैं, लेकिन उनका टैक्स जमा नहीं हो पा रहा है। डिजिटल पेमेंट के लिए मंगाई गई 10 पीओएस मशीनें (प्वाइंट आफ सेल मशीन) निगम की आलमारियों में बंद होकर खराब हो रही हैं।

छूट के साथ प्रॉपर्टी टैक्स जमा कराने के लिए 31 मार्च आखिरी तारीख है। ऐसे में लोग ज्यादा संख्या में अपना टैक्स जमा कराने आ रहे हैं। लेकिन डेबिट और क्रेडिट कार्ड से लोगों का टैक्स जमा नहीं हो पा रहा है। निगम कर्मचारियों से जब डिजिटल पेमेंट के लिए पूछा जाता है तो काउंटर पर बैठे कर्मचारी कहते हैं कि पीओएस मशीन खराब है या फिर उन्हें चलानी ही नहीं आती है। ऐसा ही नजारा मंगलवार को दिखाई दिया। दर्जनों लोग डेबिट व क्रेडिट कार्ड से पेमेंट कराने के लिए भटकते रहे।

नोटबंदी के दौरान आयी थी दस पीओएस मशीन
बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2016 में नोटबंदी की घोषणा की थी। उस दौरान नई नकदी की कमी के कारण सरकारें डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने में जुट गयी थी। सभी नगर निकायों में टैक्स जमा करने के लिए शहरवासियों से डिजिटल के जरिए पेमेंट करने की अपील हेा रही थी। नगर निगम प्रशासन ने भी 10 पीओएस मशीनें एक प्राइवेट बैंक से ली गई थी। जिनका इस्तेमाल अब बिल्कुल भी नहीं हो रहा है।

पीओएस मशीन के साथ बैठा निगम कर्मचारी
पीओएस मशीन के साथ बैठा निगम कर्मचारी

कर्मचारियों ने मशीन का प्रयोग कर दिया बंद
नोटबंदी के एक साल बाद जब पैसे मार्केट में पैसे आने लगे तो निगम कर्मचारियों ने धीरे धीरे किसी न किसी का बहाना बनाकर पीओएस मशीन से पेमेंट लेना बंद कर दिया। लोग बड़ी संख्या में क्रेडिट कार्ड अथवा डेबिट कार्ड से अपना प्रॉपर्टी, सीवर व पानी का टैक्स जमा कराना चाहते हैं लेकिन निगम कर्मचारियों की लापरवाही से उनकी डिजिटल पेमेंट नहीं हो पा रही है। ऐसे में लोगों के पास ये विकल्प बचता है कि वह एटीएम बूथ पर जाकर नकद निकालकर टैक्स जमा कराएं।

नहीं मिल पा रहा छूट का लाभ
सरकार का कहना है कि यदि कोई शहरवासी डिजिटल पेमेंट के जरिए टैक्स जमा कराता है तो उसे एक फीसदी तक छूट भी दी जाएगी। लेकिन निगम कर्मचारियों की लापरवाही से शहरवासियों को एक फीसदी छूट का लाभ नहीं मिल पा रहा है। क्यांेकि अब निगम का कोई कर्मचारी पीओएस मशीन के जरिए टैक्स जमा नहीं कर रहा है। यहां तक कि अधिकारियों और कर्मचारियों को मशीन चलाना तक नहीं आता।

मैडम से ही चलवा लो मशीन
मंगलवार को छूट के साथ टैक्स जमा कराने के लिए निगम मुख्यालय पहंची सारन निवासी मूर्ति और ओल्ड फरीदाबाद निवासी मनीष ने सीएफसी में जाकर अपना प्रॉपर्टी टैक्स जमा कराने के लिए कर्मचारियों से बात की और क्रेडिट कार्ड से भुगतान करने की बात कही। इस पर कर्मचारी ने डिजिटल पेमेंट लेने से मना कर दिया। ज्वाइंट कमिश्नर से शिकायत करने पर उन्होंने जेडटीओ सुनीता को तलब किया और डिजिटल पेमेंट जमा कराने को कहा। जेडटीओ ने कर्मचारी को डिजिटल पेमेंट पीओएस मशीन से करने को कहा तो तो कर्मचारी पहले तो पीओएस मशीन खोजता रहा। बाद में मशीन मिली तो उसे चलाना नहीं आ रहा था। आखिर में कर्मचारी ने कहाकि हमें चलाना नहीं आता। इसे मैडम से ही चलवा लो।

किसी को नहीं थी मशीन चलाने की जानकारी
निगम कर्मचारी मोहित पीओएस मशीन को लेकर एक जोन से दूसरे जोन में घूमता रहा। लेकिन कोई भी कर्मचारी मशीन को चला नहीं पाया। उधर निगम कमिश्नर यशपाल यादव का कहना है कि यदि निगम कर्मचारियों को डिजिटल पेमेंट की जानकारी नहीं है तो उन्हें इसके लिए ट्रेनिंग दिलाई जाएगी।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

और पढ़ें