पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोर्ट का फैसला:आठवीं में पढ़ने वाली छात्रा से शादी करने का झांसा देकर बंधक बना करता रहा दुष्कर्म, कोर्ट ने सुनाई दस साल की सजा

फरीदाबाद21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दुष्कर्मी पर लगाया 40 हजार रुपए का जुर्माना। - Dainik Bhaskar
दुष्कर्मी पर लगाया 40 हजार रुपए का जुर्माना।

आठवीं में पढ़ने वाली छात्रा से शादी करने का झांसा देकर बंधक बनाकर दुष्कर्म करने वाले को अतिरिक्त सत्र न्यायाशीश जैसमीन शर्मा की कोर्ट ने दस साल की सजा सुनाई है। उस पर 40 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है। दुष्कर्मी छात्रा को ऑटो से बदरपुर ले जाकर मीठापुर में 24 दिनों तक रखा था।

लीगल सेल के एडवोकेट रविंद्र गुप्ता ने बताया कि मुजेसर थाना क्षेत्र में रहने वाली 15 वर्षीय किशोरी आठवीं क्लास में पढ़ती थी। स्कूल आते जाते संजय कॉलोनी निवासी राकेश उसे देखकर मुस्कराता रहता था। 24 मार्च 2017 को राकेश मौका पाकर उससे शादी करने का झांसा दिया और आटो में बैठाकर बदरपुर बॉर्डर ले लगया। वहां से छात्रा को मीठापुर ले जाकर एक किराए के मकान में बंधक बनाकर रखा। उसके साथ नियमित रूप से दुष्कर्म करता रहा। परिजनों ने 4 अप्रैल 2017 को केस दर्ज कराया। इसके बाद पुलिस ने लड़की को मीठापुर से बरामद कर दुष्कर्मी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। तभी से मामला कोर्ट में विचाराधीन था। बुधवार को अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश जैसमीन शर्मा की कोर्ट ने सबूतों के आधार पर राकेश को दोषी मानते हुए दस साल की सजा सुनाई और 40 हजार रुपए जुर्माना लगाया।