खोरी कॉलोनीवासियों को राहत:तोड़फोड़ से पहले सरकार लाई पुनर्वास पाॅलिसी, कागजात होने पर दिए जाएंगे मकान

फरीदाबाद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फरीदाबाद. खोरी वासियों के लिए पुनर्वास योजना के बारे में जानकारी देती निगम कमिश्नर डा. गरिमा मित्तल। साथ ही डीसी यशपाल यादव। - Dainik Bhaskar
फरीदाबाद. खोरी वासियों के लिए पुनर्वास योजना के बारे में जानकारी देती निगम कमिश्नर डा. गरिमा मित्तल। साथ ही डीसी यशपाल यादव।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर खोरी कॉलोनी में होने वाली तोड़फोड़ से पहले हरियाणा सरकार ने प्रभावित लोगों को राहत देते हुए पुनर्वास पॉलिसी लाई है। इसके तहत वैध कागजात होने पर उन्हें डबुआ कॉलोनी अथवा बापूनगर में फ्लैट दिए जाएंगे। सरकार लोगों से फ्लैट की कीमत आसान किस्तों में वसूल करेगी। इसके लिए 15 साल तक ईएमआई जमा करना होगा।

सेक्टर-12 में निगम कमिश्नर डॉ. गरिमा मित्तल, डीसी यशपाल यादव व डीसीपी एनआईटी अंशुल सिंगला ने संयुक्त प्रेसवार्ता में पुनर्वास पॉलिसी के बारे में जानकारी दी। निगम कमिश्नर ने बताया कि खोरी क्षेत्र के जिन निवासियों को पुनर्वास योजना में शामिल किया गया है उनके लिए जो मानदंड निर्धारित किए गए हैं उसमें तीन डॉक्यूमेंट को मुख्य तौर पर शामिल किया गया है।

इनमें परिवार की आय तीन लाख रुपए वार्षिक से अधिक न हो। इसके साथ ही परिवार के मुखिया का नाम बड़खल विधानसभा क्षेत्र की वोटर लिस्ट में एक जनवरी 2021 के अनुसार दर्ज होना चाहिए। दूसरा परिवार के मुखिया के पास एक जनवरी 2021 तक जारी किया गया परिवार पहचान पत्र और तीसरा परिवार के किसी भी सदस्य महिला एवं पुरुष के पास दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम द्वारा जारी किया गया बिजली का कनेक्शन होना चाहिए।

शहर में स्लम बस्तियों को खत्म करने के लिए राज्य सरकार वर्ष 2008-09 में डबुआ कॉलाेनी और बापू नगर में जवाहर लाल नेहरू राष्ट्रीय शहरी नवीकरण मिशन (जेएनएनयूआरएम) के तहत 2896 फ्लैट बनाए गए थे। इसके तहत 36 वर्ग गज में डबुआ कॉलोनी में करीब 10 एकड़ जमीन पर चार मंजिला 1968 फ्लैट और बापू नगर में पांच एकड़ जमीन पर 928 फ्लैट बनाए गए थे।

दोनों प्रोजेक्ट वर्ष 2011-12 में पूरा हो गए। इन फ्लैटों में एक बड़ा हाल, एक बेडरूम, एक एक किचन व बाथरूम है। इन दोनों जगह 351 लोगों को शिफ्ट किया जा चुका है। अभी कुल 2545 फ्लैट खाली पड़े हैं। इनकी हालत जर्जर अवस्था में है।

फ्लैट की कीमत वसूल करेगी हरियाणा सरकार

उन्होंने बताया जो व्यक्ति पुनर्वास योजना के तहत निर्धारित मानदंड पूरा करेगा उसे 3 लाख 77 हजार 500 रुपए मूल्य का फ्लैट दिया जाएगा। ये पैसे निर्धारित मासिक किस्तों में चुकाने होंगे। इसमें फ्लैट अलॉटमेंट के 15 दिन के अंदर 17 हजार रुपए एकमुश्त जमा कराने होंगे। इसके बाद 15 वर्षों तक 2500 रुपए की राशि मासिक किस्तों में देनी होगी। उन्होंने कहा जो भी व्यक्ति शांतिपूर्ण ढंग से व स्वयं मकान खाली कर जाएगा उसे योजना के तहत फ्लैट आवंटन में प्राथमिकता दी जाएगी।

6 माह तक हरियाणा सरकार देगी किराया

निगम कमिश्नर ने बताया डबुआ कॉलोनी और बापू नगर के जो फ्लैट जर्जर अवस्था में हैं उनकी मरम्मत के लिए टेंडर जारी कर दिए गए हैं। इसलिए नगर निगम ने रिपेयर करने के लिए 18 करोड़ रुपए का टेंडर लगाया है। 6 महीने के अंदर फ्लैटों का मरम्मत कार्य पूरा हो जाएगा। तब तक खोरी के पात्र लोगों को किराए पर रहने के लिए प्रत्येक महीने 2-2 हजार रुपए किराए के रूप में दिए जाएंगे।

खोरी में आज से शुरू हाे सकती है कार्रवाई

उधर जिला प्रशासन ने मंगलवार देर शाम हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण, सिंचाई विभाग, एचएसआईआईडीसी, पीडल्ब्यूडी समेत अन्य विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक कर सभी विभागों से इंजीनियरिंग विभाग के अधिकारियों को साथ लेकर बुधवार सुबह से खोरी कॉलोनी में तोड़फोड़ करने की योजना बनाई है।

पॉलिसी के तहत इन लोगों को दिए जाएंगे फ्लैट

निगम कमिश्नर ने बताया पुनर्वास पॉलिसी का लाभ लेने के लिए लोगों के पास तीन डॉक्यूमेंट में से कोई एक होना चाहिए। जैसे इसके लिए बड़खल विधानसभा क्षेत्र का वोटर कार्ड एक जनवरी 2021 तक, परिवार पहचान पत्र और बिजली का कनेक्शन। साथ ही मुखिया की आमदनी तीन लाख रुपए सालान से अधिक नहीं होनी चाहिए।

खबरें और भी हैं...