पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पूर्व विधायक की मांग:पृथला क्षेत्र को गदपुरी टोल टैक्स से मुक्त रखे सरकार, सीएम व केंद्रीय मंत्री को मांगपत्र भेजा

फरीदाबाद5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फरीदाबाद। गदपुरी टोल टैक्स प्लाजा को जल्द शुरू किए जाने को लेकर पूर्व विधायक ने कड़ी आपत्ति जताई है। - Dainik Bhaskar
फरीदाबाद। गदपुरी टोल टैक्स प्लाजा को जल्द शुरू किए जाने को लेकर पूर्व विधायक ने कड़ी आपत्ति जताई है।

पृथला क्षेत्र के तहत आने वाले गदपुरी टोल प्लाजा को जल्द शुरू किए जाने को लेकर पूर्व विधायक पं. टेकचंद शर्मा ने कड़ी आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा यहां टोल लगने से जहां स्थानीय ग्रामीणों को परेशानी होगी वहीं फरीदाबाद से प्रतिदिन कई-कई बार पलवल जाने वाले लोगों पर भी अतिरिक्त बोझ पड़ेगा। इसलिए यहां टोल लगाने का कोई औचित्य नहीं है। सरकार को चाहिए कि जनमानस की भावनाओं की कद्र करते हुए वह पृथला क्षेत्र को इस टोल से मुक्त रखे। शर्मा बुधवार को सीकरी स्थित अपने कार्यालय पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

इंडस्ट्रियल क्षेत्र होने से लोगों का कई बार आना होता है

उन्होंने कहा पृथला क्षेत्र लगभग 20 किलोमीटर के अंतर्गत आता है। इसका कुछ हिस्सा फरीदाबाद तो कुछ पलवल क्षेत्र से लगा है। ऐसे में यहां लोग दिन में कई बार आवागमन करते हैं। ऐसे भी लोग हैं, जिनकी रिहायश तो पृथला में है, जबकि उनकी खेतीबाड़ी गदपुरी में है। ऐसे में टोल से उन्हें भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। क्षेत्र में रहने वाले अधिकतर उद्योगपति भी फरीदाबाद में रहते हैं। जबकि उनकी इंडस्ट्रीज गदपुरी व पलवल में लगी हैं। यहां उनकी लेबर और रॉ मटेरियल लाने ले जाने वाले वाहन चालक रहते हैं। जो दिन में दस-दस चक्कर पलवल व फरीदाबाद के लगाते हैं। ऐसे में वह कितना टोल भरेंगे। उन्होंने कहा हाईवे के पूरा होने का काम अभी चल रहा है। बाघौला में पुल बनना है। उस स्थिति को देखते हुए पृथला क्षेत्र को इस टोल से मुक्त रखा जाए और यहां के लोगों के या तो पास बनाएं जाएं या अन्य व्यवस्था की जाए। पूर्व विधायक ने कहा कि कांग्रेस के समय में मौजूदा केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने टोल टैक्सों को ‘जजिया कर’ कहकर इन्हें मुक्त किए जाने की बात कही थी और यह सभी कांग्रेस की ही देन है। जब तक वह विधायक रहे, तब तक उन्होंने इस टोल पर काम नहीं होने दिया।

विधायक ने कहा यह टोल प्लाजा कोसी बार्डर पर बने

इस टोल को यहां बनाने के बजाए कोसीकलां बॉर्डर पर बनना चाहिए था। क्योंकि पलवल व फरीदाबाद दोनों एक ही लोकसभा में आते हैं। दोनों के बीच पारिवारिक माहौल है। यहां से वहां और वहां से यहां लोगों का दिनभर आवागमन लगा रहता है। इसलिए उन्होंने केंद्रीय राज्यमंत्री गुर्जर से भी मांग की है कि वह इस मामले में हस्तक्षेप कर जनता को राहत दिलाने का प्रयास करें। पूर्व विधायक ने इस टोल प्लाजा के शुरू किए जाने के बारे पुनर्विचार हेतु सीएम मनोहर लाल व केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को मांग पत्र भेजा है। उन्होंने कहा पृथला क्षेत्र की जनता उनके लिए सर्वोपरि है। वह इस जनता के हकों के लिए हर स्तर पर संघर्ष करेंगे और इस टोल को किसी कीमत पर शुरू नहीं होने देंगे। इस मौके पर क्षेत्र के डाॅ. तेजपाल शर्मा, गदपुरी के पूर्व सरपंच तेजपाल तंवर, सूबे सिंह पृथला, एडवोकेट अशोक पृथला, भीम गदपुरी, जगवीर जवां, बच्चू सिंह तेवतिया अलावलपुर, अनुज भाटी, नितिनपाल कौशिक, सतवीर शर्मा, मनीश कौशिक, शिवकुमार शर्मा, विष्णु कौशिक, जय प्रकाश राय, रमेश चंद्र डुंडसा , जीतू भारद्वाज, विवेक सैनी, बालकिशन शर्मा, अजय कुमार आदि मौजूद थे।