पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शिकंजे में अपराधी:अपहरण, लूट व डकैती करने वाले गिरोह के चार सदस्य पुलिस के शिकंजे में, चार पिस्टल व बाइक बरामद

फरीदाबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपियों ने पिछले दिनों संजय कॉलोनी में एक दुकानदार से लूट की थी। - Dainik Bhaskar
आरोपियों ने पिछले दिनों संजय कॉलोनी में एक दुकानदार से लूट की थी।

क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 की टीम ने अपहरण, लूट व डकैती जैसी घटनाओं को अंजाम देने वाले गिरोह के चार सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है। उनके कब्जे से चार हथियार, भारी मात्रा में कारतूस व बाइक बरामद हुई है। पकड़े गए आरोपियों ने पिछले दिनों संजय कॉलोनी में एक मनी ट्रांसफर वाली दुकान पर धावा बोलकर हथियार के बल पर लूटपाट की थी। पकड़े गए आरोपियों की पहचान पर्वतीय कॉलोनी निवासी सुमित उर्फ गाेलू, सौरव, संजय कॉलाोनी मनोहर और राजस्थान के भरतपुर निवासी अजय कुमार के रूप में हुई है।

डीसीपी क्राइम जयवीर सिंह राठी ने बताया कि इस गैंग लोग लूट, डकैती, अवैध असला रखने, अपहरण की कोशिश व वाहन चोरी जैसे कई संगीन अपराधों को अंजाम देते हैं। आरोपी सुमित उर्फ गोलू, मनोहर और अजय ने नौ जून को संजय कॉलोनी स्थित एक मनी ट्रांसफर का काम करने वाले दुकानदार से हथियार के बल पर नकदी की लूट की थी। उनकी योजना दुकान में पहुंचते ही दुकानदार पर फायरिंग करने की थी लेकिन उसी समय दूकानदार की छह साल की बेटी मौके पर आ गयी। उस बच्ची को देखकर इरादा बदल दिया। बच्ची के जाने के बाद दुकानदार को डरा धमका कर पैसे लूटकर भाग गये थे। गैंग का मुख्य सरगना सुमित उर्फ गोलू है। क्राइम ब्रांच की टीम ने इन्हें बाटा पुल के पास से गिरफ्तार किया।

बिजनेस मैन के अपहरण की रची थी साजिश

डीसीपी ने बताया कि गैंग का मुखिया गोलू अवैध हथियार अपने गैंग से जुड़े दोस्तों मनोहर,अजय, सौरव को वारदात के लिए उपलब्ध करवाए थे। पकडे़ गये सभी आरोपी 25 से 30 साल की उम्र के हैं। उन्होंने बताया कि बदमाशों ने बाटा पुल के नजदीक एक बिजनेस मैन को अपहरण करने की साजिश रच रहे थे। एक आरोपी सौरव बिजिनेसमैन की फैक्ट्री में पहले काम कर चुका है। उसे पता था कि मालिक के पास बहुत पैसा है।

खबरें और भी हैं...