पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वारदात:डील कराने के चक्कर में पुराने किराएदार ने साथी के साथ मिलकर बिल्डर को अगवा कर हत्या कर दी, शव यूपी के गंग नहर में फेंका

फरीदाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बिल्डर करीब एक सप्ताह पहले रहस्यमय परिस्थितियों में लापता हुए थे। - Dainik Bhaskar
बिल्डर करीब एक सप्ताह पहले रहस्यमय परिस्थितियों में लापता हुए थे।

कोई डील कराने के चक्कर में पुराने किराएदार ने अपने साथी के साथ मिलकर बिल्डर का अपहरण कर लिया और उसकी हत्या कर शव यूपी के गंगनहर में फेंक दिया। यही नहीं बिल्डर की कार दिल्ली में छिपा दी ताकि उन पर शक न हो सके। बिल्डर करीब एक सप्ताह पहले रहस्यमय परिस्थितियों में लापता हुए थे। वह कार लेकर निकलेे थे लेकिन लौटकर नहीं आए। पुलिस ने इस मामले का खुलासा करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए आरोपियों की पहचान नोएडा निवासी अजय और पीटर उर्फ जॉन के रूप में हुई है। आरोपी अजय नोएडा में किसी कंपनी में काम करता है जबकि जाॅन प्रॉपर्टी डीलिंग। आरोपियों को कोर्ट में पेश कर तीन दिन की रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है। हैरानी की बात ये है कि पुलिस अभी ये पता नहीं लगा पायी है कि बिल्डर का अपहरण कहां से किया गया और हत्या किस कारण की गई।

बता दें कि सेक्टर 37 निवासी बिल्डर जुगल किशोर एक जून को अपनी ब्रेजा कार से घर से निकले थे लेकिन शाम तक नहीं लौटे। परिजनों ने उनकी बहुत तलाश की लेकिन कोई सूचना नहीं मिली। उनकी लाश मुजफ्फरनगर के थाना खतौली (उत्तर प्रदेश) क्षेत्र से बरामद की गई। पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह ने जांच क्राइम ब्रांच को सौंप दी। क्राइम ब्रांच की टीम ने इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। प्राथमिक जांच में ये बात सामने आई कि आरोपी अजय, बिल्डर जुगल किशोर के मकान में 20 साल तक किराए पर रहा था। अब वह नोएडा में किसी कंपनी में काम करता है। जबकि दूसरा आरोपी पीटर उर्फ जॉन भी नोएडा में प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करता है। आरोपी अजय ने ही बिल्डर जुगल किशोर की पहचान अपने साथी पीटर उर्फ जॉन से करवाई थी। पुलिस का कहना है कि आरोपियों ने किसी डील के चक्कर में बिल्डर का अपहरण कर उसकी हत्या की बात कबूली। दोनों आरोपियों को अदालत में पेश करके 3 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है।