पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना को लेकर कार्यशाला:तीसरी लहर में यदि अधिक मरीज आते हैं तो कैसे बेहतर इलाज करेंगे, इस बारे में मेडिकल स्टाफ को किया गया प्रशिक्षित

फरीदाबाद19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फरीदाबाद। मेडिकल कार्यशाला में उपस्थित डॉक्टर्स और स्टाफ। - Dainik Bhaskar
फरीदाबाद। मेडिकल कार्यशाला में उपस्थित डॉक्टर्स और स्टाफ।

कोविड- 19 महामारी की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर हॉस्पिटल स्टाफ को प्रशिक्षित करने के लिए कार्यशाला का आयोजन किया गया। यह आयोजन सर्वोदय हॉस्पिटल और सर्वोदय नर्सिंग इंस्टीट्यूट ने साथ मिलकर एनआईसीयू एवं पीआईसीयू स्टाफ के लिए किया। यह कार्यशाला सर्वोदय हॉस्पिटल सेक्टर 8 में की गई। इसमें हॉस्पिटल स्टाफ और सर्वोदय नर्सिंग इंस्टीट्यूट के टीचर्स शामिल हुए। कार्यशाला में मुख्य वक्ता के रूप में सर्वोदय हेल्थ केयर के चेयरमैन डॉ. राकेश गुप्ता और ग्रुप मेडिकल डायरेक्टर डॉ. वीआर गुप्ता मौजूद थे।

उन्होंने कहा इस कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य कोविड-19 महामारी की तीसरी लहर के लिए हॉस्पिटल स्टाफ को प्रशिक्षित करना था। इसमें विशेष तौर पर बच्चों के विभाग में कार्यरत मेडिकल स्टाफ जिसमें एनआईसीयू एवं पीआईसीयू स्टाफ प्रमुख रहा। क्योंकि बच्चों के इलाज से संबंधित तकनीकी बदलाव और किसी भी महामारी में अधिक मरीजों के होने पर भी बेहतर इलाज के बारे में प्रशिक्षित करना था। इस कार्यशाला में हाई रिस्क मैनेजमेंट, ड्रग डोज मैनेजमेंट और पीडियाट्रिक विभाग के तहत आने वाले डॉक्यूमेंटेशन को और अधिक व्यवस्थित तरीके से करने पर जोर दिया गया |

डाॅ. राकेश गुप्ता ने बताया कि कोरोना की पिछली 2 लहरों के बाद कार्यप्रणाली में निरंतर बदलाव किए गए हैं जिससे कोरोना मरीजों को बेहतर इलाज मिल सके। उन्होंने कहा अब बहुत सी वयस्क जनता वैक्सीन ले चुकी है इसलिए कोशिश है कि जिन लोगों को वैक्सीन नहीं लगी है, खासकर बच्चों को यदि भविष्य में कोरोना उन्हें अपनी गिरफ्त में लेता है तो उन्हें बेहतर इलाज मिल सके। इसके लिए लगातार इस प्रकार की कार्यशालाओं का आयोजन किया जा रहा है।