पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जिले में साइबर ठगों का आतंक:चार दिन में 44 लोगों के खातों से 30 लाख से अधिक रुपए उड़ाए, पुलिस जांच में जुटी

पलवल8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में साइबर ठगों का आतंक बढ़ता जा रहा है। एक ही दिन में इन्होंने 20 लोगों के खाते से 16 लाख 15 हजार 211 रुपए निकाल लिए। जबकि चार दिन में 44 लोगों के खातों से 30 लाख से अधिक रुपए उड़ा दिए। पुलिस ने सभी केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

एक दिन में इतने मामले पुलिस ने दर्ज किए

पुलिस के अनुसार करमन गांव निवासी सुखवती के खाते से 30-31 मई को एक लाख 90 हजार रुपए निकाल लिए गए। जबकि चांदहट गांव निवासी दलसिंह के खाते से एक लाख दस हजार रुपए, नानकचंद के खाते से एक लाख दस हजार रुपए, पूरण के खाते से एक लाख तीस हजार रुपए, रविंद्र के खाते से 60 हजार रुपए, राजेंद्र के खाते से 90 हजार रुपए, अलावलपुर गांव निवासी मोहरपाल के खाते से 90 हजार रुपए निकल गए। हथीन निवासी जगत प्रकाश के खाते से 62 हजार 625 रुपए, जैनपुर गांव निवासी जतनवती के खाते से 46 हजार 678 रुपए, चिली गांव निवासी शकुल के खाते से 39 हजार 500 रुपए निकाल लिए गए।

इसी तरह गदपुरी थाना क्षेत्र के धतीर गांव निवासी कर्मवीर के खाते से 51 हजार रुपए, अतरचटा गांव निवासी जयकरन के खाते से 9100 रुपए, धतीर गांव निवासी जिले सिंह के खाते से 9100 रुपए निकाल लिए गए। शहर थाना क्षेत्र के रजपुरा गांव निवासी रामानंद के खाते से 68 हजार 873 रुपए, गोरिल्ला मोहल्ला निवासी अमीर सिंह के खाते से 27 हजार 281 रुपए निकाल लिए गए। कैंप थाना क्षेत्र के पृथला गांव निवासी देवरतन का एटीएम कार्ड बदलकर 17 हजार रुपए, टीकरी ब्राह्मण गांव निवासी अंगूरी के खाते से 3 लाख रुपए, कौंडल गांव निवासी सुमन के दो खातों से एक लाख 40 हजार रुपए, बसंत विहार निवासी जितेंद्र के खाते से 61 हजार 154 रुपए व मोहन नगर निवासी शीला के खाते से 2900 रुपए निकाल लिए गए।

चार दिन में 44 लोगों के खात कर दिए खाली

साइबर ठगों ने जिले में 4 जून को 19 लोगों के खातों से 9 लाख 82 हजार 440 रुपए, 5 जून को 5 लोगों के खातों से 4 लाख 30 हजार रुपए व 6 जून को 20 लोगों के खातों से 16 लाख 15 हजार 211 रुपए उड़ा दिए।

साइबर सेल व पुलिस जांच मे जुटी: एसपी

इस मामले में एसपी ने कहा कि साइबर ठगी के मामले दर्ज होने के बाद साइबर सेल व जिला पुलिस ठगों की जांच में जुटी है। जल्द ही इनका सुराग लगाकर लोगों को इससे छुटकारा दिलाया जाएगा।