नवरात्र पर मंदिरों में विशेष, पूजा:धूमधाम से शुरू हुआ नवरात्र, देवी मंदिरों में की गई मां शैलपुत्री की भव्य पूजा

फरीदाबाद20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पहले दिन मां शैलपुत्री की भव्य पूजा अर्चना की गई। - Dainik Bhaskar
पहले दिन मां शैलपुत्री की भव्य पूजा अर्चना की गई।

शहर में गुरुवार से नवरात्र पर्व धूमधाम से शुरू हो गया। सभी प्रमुख देवी मंदिरों में पहले दिन मां शैलपुत्री की भव्य पूजा अर्जना कर लोगों ने मानव कल्याण की कामना की।

शहर के ऐतिहासिक और प्राचीन महारानी वैष्णोदेवी मंदिर में पहले दिन मां शैलपुत्री की भव्य पूजा अर्चना की गई। इस अवसर पर मंदिर में सुबह से ही श्रद्धालुओं का तांता लगना आंरभ हो गया था। भक्तों ने मंदिर में पहुंचकर मां शैलपुत्री की पूजा अर्चना में हिस्सा लिया और मां से अपने मन की मुराद मांगी।

मां शैलपुत्री यह रूप आनंदित करने वाला

हवन यज्ञ के पुनीत अवसर पर मंदिर में फरीदाबाद के प्रमुख उद्योगपति आनंद मल्होत्रा, चेयरमैन प्रताप भाटिया, प्रदीप झांब, रमेश सहगल, सोनिया बत्तरा, आर के जैन, नेतराम गांधी, फकीरचंद कथूरिया, राहुल मक्कड़, संजय कुमार एवं देहर पुंजानी शामिल हुए। हवन यज्ञ के उपरांत मंदिर के प्रधान जगदीश भाटिया ने बताया कि मां शैलपुत्री को हेमावती तथा पार्वती नाम से भी जाना जाता है। मां की सवारी वृष है, जिस कारण उन्हें वृषारूढ़ा भी कहा जाता है। मां शैलपुत्री के हाथों में त्रिशूल और बाएं हाथ में कमल का फूल रहता है। मां का यह रूप बेहद ही सुखद मुस्कान और आनंदित करने वाला दिखाई पड़ता है। मां का यह देवी शैलपुत्री रूप सभी भाग्य का प्रदाता है। चंद्रमा के पडऩे वाले किसी भी बुरे प्रभाव को मां शैलपुत्री नियंत्रित करती हैं।

खबरें और भी हैं...