पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

खोरी में तोड़फोड़ की कार्रवाई शुरू:24 घंटे पहले पुनर्वास पॉलिसी की घोषणा, सुबह छह बजे से ही मकानों पर चलने लगा बुल्डोजर, 200 मकान तोड़ने का दावा

फरीदाबाद13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बारिश के कारण तोड़फोड़ की कार्रवाई रोकना पड़ी। - Dainik Bhaskar
बारिश के कारण तोड़फोड़ की कार्रवाई रोकना पड़ी।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर नगर निगम प्रशासन खोरी कॉलोनी में तोड़फोड़ की कार्रवाई शुरू हो गयी। 24 घंटे पहले निगम और जिला प्रशासन हरियाणा सरकर की पुनर्वास पॉलिसी की घोषणा की। अगले दिन बुधवार सुबह 11.30 बजे से ही अवैध मकानों पर बुल्डोजर चलवाना शुरू कर दिया। अधिकारियों ने दोपहर तक करीब 200 मकान तोड़ने का दावा किया। बारिश के कारण प्रशासन को तोड़फोड़ की कार्रवाई रोकनी पड़ी। अब गुरुवार सुबह से फिर कार्रवाई शुरू होगी। निगम कमिश्नर डॉ. गरिमा मित्तल का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश की पालना कराई जा रही है। वहीं दूसरी ओर तोड़फोड़ की कार्रवाई शुरू होने पर महिलाओं ने विरोध करने का प्रयास किया लेकिन भारी संख्या में पुलिस बल की मौजूदगी होने के कारण महिलाएं सफल नहीं हो पायी।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने 7 जून को अपने आदेश में नगर निगम प्रशासन को खोरी कॉलोनी में बने अवैध मकानों को तोड़कर वन क्षेत्र खाली कराने का आदेश दिया है। इसके लिए कोर्ट ने छह सप्ताह का समय दिया है। 19 जृुलाई तक कोर्ट में स्टेट्स रिपोर्ट सौंपनी है। बड़े पैमाने पर होने वाली तोड़फोड़ को देखते हुए सरकार ने भी मानवीयता के आधार पर पुनर्वास पॉलिसी लाने की योजना बनाई। पाॅलिसी मंगलवार को बनकर तैयार हो पायी। इसके बाद निगम कमिश्नर एवं डीसी ने मीडिया के सामने दोपहर बाद तीन बजे पॉलिसी की घोषणा की।

रात में बैठक की, सुबह ही टीम पहुंचा दी

तोड़फोड़ की कार्रवाई शुरू करने के लिए नगर निगम प्रशासन मंगलवार देररात तक अधिकारियों के साथ बैठक कर कर तोड़फोड़ की रणनीति बनाते रहे। टीम में शामिल लोगों व संसाधनों को रात में ही खोरी कॉलोनी भेज दिया था। सुबह 11.30 बजे ही निगम प्रशासन ने कॉलोनी में बुल्डोजर चलाना शुरू कर दिया।

बारिश ने रोकी तोड़फोड़ की कार्रवाई

दोपहर में बारिश शुरू होने के कारण प्रशासन को तोड़फोडृ की कार्रवाई रोकनी पड़ी। इस दौरान करीब साठ मकान तोड़े जा चुके थे। प्रशासन ने पहले उन मकानों पर बुल्डोजर चलवाया जो सामान खाली कर चुके थे अथवा अर्धनिर्मित थे। तोड़फोड़ की कार्रवाई शुरू होने पर महिलाओं ने विरोध करने का प्रयास किया लेकिन भारी पुलिस बल की मौजूदगी के कारण वह सफल नहीं हो पायी। निगम सूत्रों ने बताया कि अब तोड़फोड़ की कार्रवाई सुबह नौ से शाम पांच बजे तक चलेगी।

खबरें और भी हैं...