पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुआवजे को लेकर बैठक में किसान बोले:सेक्टर बसाने के लिए अधिगृहित की गई थी जमीन, कोर्ट के आदेश के बाद भी सरकार नहीं दे रही बढ़ा हुआ मुआवजा

फरीदाबाद9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फरीदाबाद। नीमका में हुई बैठक में पूर्व विधायक ललित नागर ने कहा कि भाजपा किसानों को केवल वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल करती है। - Dainik Bhaskar
फरीदाबाद। नीमका में हुई बैठक में पूर्व विधायक ललित नागर ने कहा कि भाजपा किसानों को केवल वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल करती है।

तिगांव विधानसभा क्षेत्र के करीब 20-22 गांवों के किसानों को आज तक मुआवजा न मिलने से उनमें सरकार के प्रति रोष है। सरकार ने नहरपार सेक्टर बसाने के लिए किसानों की जमीन अधिगृहित की थी। किसान कई बार मुआवजे को लेकर प्रशासन से गुहार लगा चुके हैं, लेकिन अभी तक उन्हें मुआवजा नहीं मिल पाया। इस मुद्दे को लेकर रविवार को किसानों ने नीमका गांव में एक बैठक की। इसमें पूर्व विधायक ललित नागर भी पहुंचे थे। इस दौरान किसानों ने कहा कि वे लंबे समय से मुआवजा मिलने का इंतजार कर रहे हैं। भाजपा नेताओं ने उन्हें आश्वासन भी दिया था लेकिन अभी तक उन्हें मुआवजा नहीं मिला। जबकि सुप्रीम कोर्ट व हाईकोर्ट ने सरकार को बढ़ाकर मुआवजा दिए जाने के आदेश दिए हैं। लेकिन सरकार कोई कार्रवाई नहीं कर रही। ग्रामीणों की समस्याएं सुनने के बाद पूर्व विधायक ने कहा कि हैरानी की बात है कि सर्वोच्च अदालत के आदेश के बावजूद किसान आज मुआवजे की बाट जोह रहे हैं। उन्होंने कहा भाजपा किसानों को केवल वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल कर रही है। सत्ता में आकर उनके हितों पर कुठाराघात करती है। आज देश का अन्नदाता अपनी मांगों को लेकर 10 महीनों से सड़कों पर है, लेकिन इस सरकार के पास उनकी बात सुनने तक का समय नहीं है। उन्होंने ग्रामीणों को विश्वास दिलाया कि मुआवजे के मुद्दे को लेकर वह जल्द ही डीसी से मिलकर उनकी समस्या का समाधान कराने का प्रयास करेंगे। बैठक में राजकुमार नागर, जयपाल नागर, रमेश सिंह, फूल सिंह नागर, वीरू सिंह, रणजीत नागर, योगेंद्र नागर, कमल पंडित, अमरजीत सिंह, विपिन पंडित, कमल चंदीला, गंगाराम नरवत सहित अनेक किसान मौजूद थे।