• Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • Faridabad
  • The Murderer Naresh Used To Shop For Tea And Fast Food In Jhansi, Came From There In The Evening And Executed The Accident At Night.

पहले 4 लोगों की हत्या की फिर खुदकुशी कर ली:झांसी ने चाय की दुकान चलाया था आरोपी, शाम को गांव लौटा, रात को हत्याकांड को दिया अंजाम

पलवल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पांचों का पोस्टमॉर्टम करवा कर शव परिजनों को सौंप दिए गए हैं। - Dainik Bhaskar
पांचों का पोस्टमॉर्टम करवा कर शव परिजनों को सौंप दिए गए हैं।
  • सोने से पहले नरेश रात 10 बजे तक पड़ोसियों के साथ रोज की तरह बातचीत की। इस दौरान उसने हंसी मजाक भी की थी। पड़ोसियों के अनुसार नरेश के चेहरे पर परेशानी के भाव नजर नहीं आ रहे थे। साढ़े दस बजे वह अपने घर चला गया था।

पलवल के औरंगाबाद में एक शख्स ने अपनी पत्नी, बेटी, बेटे और भतीजे की हत्या के बाद खुद भी आत्महत्या कर ली। एक साथ हुई पांच मौतों से परिवार और गांव में मातम है। बतााय जा रहा है कि शख्स आर्थिक तंगी से गुजर रहा था। जिसके चलते उसने ये कदम उठाया।

मृतक नरेश कुमार के चचेरे भाई भगत सिंह ने बताया कि नरेश गांव में खेतीबाड़ी करता था। उसकी आर्थिक हालत ठीक नहीं थी। कुछ दिन पहले ट्रैक्टर-ट्राली बेचकर वो अपने ससुराल यूपी के झांसी में जाकर चाय और फास्ट फूड की दुकान चला रहा था। वह आठ-दस दिन में झांसी से गांव आता रहता था। मंगलवार शाम को भी वह झांसी से आया था।

सोने से पहले रात 10 बजे तक पड़ोसियों के साथ रोज की तरह बातचीत की। इस दौरान उसने हंसी मजाक भी की। पड़ोसियों के अनुसार नरेश के चेहरे पर परेशानी के भाव नजर नहीं आ रहे थे। करीब साढ़े दस बजे वह अपने घर चला गया था। पुलिस के अनुसार सभी मृतकों के शव बुधवार सुबह अकड़े मिले थे। इससे पता चलता है कि हत्याएं रात 11-12 बजे के बीच की गई हैं। पुलिस ने मौके से साक्ष्य जुटाकर पोस्टमॉर्टम करा शव परिजनों को सौंप दिए।

मृतक के पिता लक्खीराम ने दो शादियां की थीं। दोनों पत्नियां मायावती और निर्मला सगी बहनें थी। मायावती से दो पुत्र नरेश और समयबीर और दो पुत्री हैं। जबकि निर्मला देवी के दो पुत्र मनोहर लाल और रघुवीर हैं। मृतक नरेश के सगे भाई समयबीर की करीब आठ साल पहले सड़क हादसे में मौत हो गई थी। जबकि मृतक की मां निर्मला देवी भी करीब पांच साल पहले सड़क हादसे में मौत हो चुकी है। रघुवीर ने भी करीब चार साल पहले आत्महत्या कर ली थी। मृतक नरेश के भाई समयबीर की दो बेटियां हैं। इनमें से रविता नरेश के पास ही रहती थी। जबकि दूसरी बेटी अपनी बुआ के घर चांदहट गांव में रहती है। पड़ोसियों के अनुसार नरेश काफी मेहनती था। उसकी पत्नी आरती झांसी की रहनी वाली थी।