दहशत फैलाने वाले अब पुलिस के शिकंजे में:हथियारों के बल पर एक ही रात में चार वारदातों को दिया था अंजाम, गिरोह के तीन सदस्य गिरफ्तार

फरीदाबाद7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस हिरासत में तीनों आरोपी। इससे पहले भी लूटपाट, लड़ाई-झगडा, चोरी व अवैध हथियार के मामलों में ये जेल की हवा खा चुके हैं। - Dainik Bhaskar
पुलिस हिरासत में तीनों आरोपी। इससे पहले भी लूटपाट, लड़ाई-झगडा, चोरी व अवैध हथियार के मामलों में ये जेल की हवा खा चुके हैं।
  • तीनों आरोपियों के कब्जे से 2 देसी पिस्टल, 1 देसी कट्टा, 21 कारतूस बरामद

हथियारों के बल पर एक ही रात में चार वारदात कर दहशत फैलाने वाले गिरोह के तीसरे सदस्य अनीश उर्फ़ राजू को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इससे पहले चिंटू उर्फ़ चरणजीत व राहुल बंगाली को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। इन दोनों को कोर्ट में पेश कर तीन दिन के रिमांड पर लेकर पूछताछ की गई तो इन्होंने हथियारों से फायरिंग कर एक ही रात में अलग-अलग जगह चार वारदातें करना कबूल किया।

आरोपियों ने पुलिस पर भी फायर किया था

क्राइम ब्रांच सेक्टर-48 के अनुसार 6 मई की रात आरोपियों ने सबसे पहले ड्यूटी से लौट रहे प्रधान सिपाही कुशल कुमार की कार रोक कर उन्हें लूटने की कोशिश की। लेकिन असफल होने पर पिस्तौल से फायर कर आरोपी वहां से फरार हो गए थे। इसके बाद बाइपास पर चावला कॉलोनी के पास टैक्सी चालक से पिस्तौल के बल पर उसकी कार लूट ली थी। कार लेकर आरोपी सुभाष कॉलोनी पहुंचे। वहां उन्होंने आकाश नाम के युवक पर गोली चलाई। इसमें वह बाल-बाल बच गया था। इसके बाद आरोपियों ने दयालपुर में एक युवक पर गोली चलाई। इससे पहले आरोपियों ने छांयसा थाना क्षेत्र में पिस्तौल दिखा एक युवक से बाइक, मोबाइल और पैसे लूटे थे। इसी बाइक से आए आरोपियों ने टैक्सी ड्राइवर से कार लूटी थी।

खर्चे व नाम कमाने के लिे करते थे अपराध

क्राइम ब्रांच सेक्टर-48 प्रभारी राकेश कुमार की टीम ने गिरोह के तीसरे आरोपी अनीश उर्फ़ राजू को आईएमटी पुल के पास से देसी कट्टा व 9 कारतूस के साथ गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि वे अपने खर्चे की पूर्ति व अपराध की दुनिया में नाम कमाने के लिए वारदातें करते थे। इससे पहले भी लूटपाट, लड़ाई-झगडा, चोरी व अवैध हथियार के मामलों में ये जेल की हवा खा चुके हैं। इन्हें कोर्ट में पेश किया गया। जहां उन्हें जेल भेज दिया गया।