पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना का कहर:शहरों से गांवों की ओर बढ़ रहा कोरोना, कई गांवों में हो रही संदिग्ध मौतें

गुड़गांवएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रशासन बेखबर, सीएम से भी लगा चुके हैं गुहार, गांवों में लगाए जाएं टेस्टिंग कैम्प

कोविड-19 यानि कोरोना वायरस अब शहर से ग्रामीण क्षेत्रों में रुख करने लगा है। प्रदेश के कई ऐसे गांव हैं, जहां इसका प्रकोप ज्यादा दिखाई देने लगा है। जिला के गांवों में बुखार से मौतें होने की सूचनाएं आ रही हैं। गुड़गांव के भोंडसी गांव में 15 दिन में करीब 15 मौत हो चुकी हैं।

प्रदेश के गांवों में खांसी-बुखार के लक्षण वाले काफी लोगों के बीमार होने की जानकारी भी लगातार मिल रही है। स्वास्थ्य विभाग के लिए चिंता की बात यह है कि ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना महामारी को लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। कोरोना के सैंपल लेने के लिए ग्रामीण आगे नहीं आ रहें, जो उनके लिए घातक साबित हो रहा है। वहीं गांवों में बुखार को केवल टाइफाइड बताकर झोलाछाप डाक्टरों से ही इलाज ले रहे हैं। वहीं बुखार से मौत होने के बाद बिना सावधानियों के ही अंतिम संस्कार भी किए जा रहे हैं। जिससे कोरोना होने पर यह बड़ा खतरा साबित हो सकता है।

पीएचसी स्तर पर लगाए जा रहे हैं कैम्प

गुड़गांव में पीएचसी स्तर पर ही टेस्टिंग कैम्प लगाए जा रहे हैं, जबकि दूसरे गांवों में कैम्प नहीं लगाए गए हैं। वहीं जागरुकता के अभाव में लोग टेस्ट कराने की बजाय बुखार, खांसी व गले में इन्फेक्शन की दवाइयां ले रहे हैं। जिससे संक्रमण तेजी से फैल रहा है। लोगों की मानें तो हर घर में एक से ज्यादा पेशेंट हैं, लेकिन कोई भी टेस्ट नहीं कराना चाहता। नाममात्र ही लोग टेस्ट करा रहे हैं, जो पॉजिटिव भी पाए गए हैं।

खबरें और भी हैं...