पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ग्रेन एटीएम:अन्न आपूर्ति के लिए गुरुग्राम में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर लगा देश का पहला ग्रेन एटीएम, उपभोक्ता अगूंठा लगाकर मशीन से निकाल सकेगा अनाज

गुड़गांव15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फर्रूखनगर में लगा देश का पहला ग्रेन एटीएम। - Dainik Bhaskar
फर्रूखनगर में लगा देश का पहला ग्रेन एटीएम।
  • बैंक एटीएम की तर्ज पर करेगा काम

अब सरकारी राशन लेने के लिए उपभोक्ताओं को न तो लंबी लाइन में लगना होगा और न ही राशन कम मिलने की शिकायत का कोई मौका रहेगा, क्योंकि हरियाणा सरकार अब प्रदेश के उपभोक्ताओं के लिए ग्रेन एटीएम स्थापित करने की योजना पर काम कर रही है। हरियाणा के गुरुग्राम जिले के फर्रूखनगर में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर देश का पहला ग्रेन एटीएम स्थापित कर दिया गया है।

प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला, जिनके पास खाद्य एवं आपार्ति का प्रभार भी है, का कहना है कि ग्रेन एटीएम लगने से सरकारी दुकानों से राशन लेने वालों के समय और पूरा माप न मिलने को लेकर तमाम शिकायतें दूर हो जाएगी। इस मशीन को लगाने का मकसद “राइट क्वॉवन्टटि टू राइट बेनिफिशरी” है।

इससे न केवल उपभोक्ताओं को फायदा मिलेगा बल्कि सरकारी डिपुओं पर अनाज घटने का झंझट भी खत्म होगा और सार्वजनिक अनाज वितरण प्रणाली में पहले से अधिक पारदर्शिता आएगी। डिप्टी सीएम ने कहा कि ये मशीनें न केवल सरकारी डिपो संचालकों को अनाज वितरण में सहायक साबित होगी बल्कि इससे डिपो संचालकों का समय भी बचेगा। उन्होंने कहा कि गुरुग्राम जिले के फर्रुखनगर में यह पायलट प्रोजेक्ट सफल होने के बाद इन अन्न आपूर्ति मशीनों को प्रदेशभर में सरकारी डिपुओं पर लगाने की योजना है।

ऐसे काम करती है ग्रेन एटीएम

यह एक स्वचालित मशीन है जो कि बैंक एटीएम की तर्ज पर कार्य करती है। यूनाइटेड नेशन के वर्ल्ड फूड प्रोग्राम के तहत स्थापित की जानी वाली इस मशीन को ऑटोमेटिड, मल्टी कमोडिटी, ग्रेन डिस्पेंसिंग मशीन कहा गया है। इस कार्यक्रम से जुड़े अधिकारी अंकित सूद का कहना है कि अनाज के मापतोल को लेकर इसमें त्रुटि न के बराबर है और एक बार में यह मशीन 70 किलोग्राम तक अनाज पांच से सात मिनट में निकाल सकती है। मशीन में लगी टच स्क्रीन के साथ एक बायोमेट्रिक मशीन भी लगी हुई है, जहां पर लाभार्थी को आधार या राशन कार्ड का नंबर डालना होगा। बायोमेट्रिक से सुनिश्चित करने पर लाभार्थियों को सरकार द्वारा निर्धारित अनाज स्वत: मशीन के नीचे लगाए गए बैग में भर जाएगा। इस मशीन के माध्यम से तीन तरह के अनाज गेहूं, चावल और बाजरा का वितरण किया जा सकता है। फिलहाल फर्रुखनगर में स्थापित ग्रेन एटीएम मशीन से गेहूं का वितरण शुरू कर दिया गया है।

खबरें और भी हैं...