पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना से लड़ाई:जिले के 50 बेड से ज्यादा क्षमता वाले अस्पतालों को लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट लगाने किया अनिवार्य

गुड़गांवएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिला में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा तथा बेहतर बेड प्रबंधन को लेकर शुक्रवार को उपायुक्त डॉ यश गर्ग की अध्यक्षता में जिला परामर्श समिति की ऑनलाइन बैठक हुई। बैठक में उपायुक्त डॉ गर्ग ने कहा कि जिला के 50 बेड से ज्यादा क्षमता वाले अस्पतालों को निर्देश दे दिए गए हैं कि वे अपनी ऑक्सीजन की जरूरत का प्रबंध स्वयं करें। इसके लिए चाहे वे लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट लगाएं या पीएसए की व्यवस्था करें। इस बारे में सभी बड़े अस्पतालों को पत्र भी भेजा गया है।

डॉक्टर गर्ग ने बताया कि फिलहाल गुरुग्राम में 6 ऑक्सीजन प्लांट लगाने की योजना बनाई गई है। इनके अलावा जिला प्रशासन सीएसआर के तहत भी ऑक्सीजन प्लांट लगवाने के लिए प्रयासरत है। प्रशासन को लगभग 50 कंसंट्रेटर मिल भी चुके हैं और कोशिश है कि अगले 7 से 8 दिन में 250 से 300 कंसंट्रेटर की व्यवस्था कर ली जाए।

उपायुक्त ने बताया कि ज़िला में होम आइसोलेशन में रह रहे ऐसे मरीजों के लिए भी योजना तैयार की गई है। वर्तमान में केवल स्टार गैस पर ही व्यक्तिगत ऑक्सीजन सिलेंडर दिए जा रहे हैं, जिससे लोगों को दिक्कत आ रही है। उन्होंने कहा कि इसके लिए जल्द ही पोर्टल बनाया जाएगा जहां पर ऐसे मरीज या उनके अटेंडेंट रजिस्टर करवा पाएंगे। उसके बाद शहर में 25 - 30 डिसेंट्रलाइज्ड पॉइंट बनाकर जरूरतमंद लोगों को ऑक्सीजन के सिलेंडर वितरित किए जाएंगे। इस कार्य में सिविल डिफेंस, एनजीओ और सामाजिक कार्यकर्ताओं का सहयोग लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...