पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

संक्रमण में बेबसी:कोरोना पीड़ित गर्भवती पत्नी को लेकर ऑक्सीजन बेड को भटकता रहा पति, कहीं नहीं मिली जगह, एम्बुलेंस में तोड़ दिया दम

पटौदी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पटौदी विधायक के निवास स्थान से कुछ दूरी पर 8 माह की एक गर्भवती महिला ने आक्सीजन की कमी से दम तोड़ गई। उसे बचाने के लिए उसका पति अपनी एक छोटी सी बेटी के साथ घंटों तक सड़कों पर गाड़ी लेकर इधर उधर भागता रहा। इस दौरान वह छोटे से लेकर बड़े अस्पतालों में अपनी पत्नी के लिए सांसों की भीख मांगता रहा लेकिन किसी का भी दिल उसकी कोख में पल रहे बच्चे को देखकर भी नहीं पसीजा।

आखिर में उसे जब एंबुलेंस मिली तब तक अपने कोख में पल रहे बच्चे के साथ इस दुनिया को अलविदा कह चुकी थी। मूल रूप से बक्सर बिहार निवासी 27 वर्षीय रेनू देवी अपने पति निसोत के साथ मानेसर के सेक्टर-1 में रहती थी। बीते कुछ दिनों से उसे बुखार था, जिसका इलाज एसएसजी में कराया गया।

इलाज से बुखार ठीक हो गया, लेकिन बीते गुरुवार को बेतहासा खांसी होने के कारण उसकी तबीयत ज्यादा खराब हो गई। आनन फानन में उसका पति उसे लेकर दौबारा एनएसजी गया तो उसका आक्सीजन लेवल मात्र 43 रह गया था। यहां से डाक्टरों ने बड़े अस्पताल ले जाने के लिए कहा तो निसोत अपनी बीबी को लेकर गुरूग्राम के एक नामी अस्पताल पहुंचा, लेकिन वहां उसे आक्सीजन नहीं होने के बात कहकर वापस मानेसर नामचीन अस्पतालों इलाज के लिए भेज दिया, लेकिन यहां भी गार्ड ने गेट से उसे वापस कर दिया तथा गुरूग्राम में इलाज के लिए कह दिया।

खबरें और भी हैं...