70 एकड़ भूमि अवैध कब्जे से मुक्त:बालियावास में निगम की 70 एकड़ जमीन पर बनी अवैध स्पोर्ट्स अकेडमी, 13 वर्ष बाद खाली कराई गई

गुड़गांव5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गुड़गांव. बालियावास में 70 एकड़ जमीन को कब्जामुक्त करता निगम दस्ता। - Dainik Bhaskar
गुड़गांव. बालियावास में 70 एकड़ जमीन को कब्जामुक्त करता निगम दस्ता।

नगर निगम गुड़गांव की स्थापना के 13 वर्ष हो चुके हैं मगर अब तक भी निगम अपनी बेशकीमती जमीन कब्जामुक्त कराने में विफल रहा है। लंबे समय बाद शुक्रवार को निगम ने गांव बालियावास में लगभग 70 एकड़ भूमि को अवैध कब्जों से मुक्त करवाया। शुक्रवार को जोन-3 क्षेत्र के सहायक अभियंता (इनफोर्समैंट) अजय शर्मा 5 जेसीबी, इन्फोर्समेंट टीम तथा पुलिस बल के साथ गांव बालियावास पहुंचे।

यहां पर निगम अधिकारियों की मिलीभगत से निगम की लगभग 70 एकड़ जमीन पर लोगों द्वारा क्रिकेट एवं फुटबॉल ग्राउंड एवं स्पोर्ट्स अकेडमी तथा चारदीवारी आदि करवाकर अवैध रूप से कब्जा किया गया था। टीम ने जेसीबी की मदद से सभी अवैध गतिविधियों को हटाया तथा नगर निगम गुरूग्राम की मलकियत संबंधी बोर्ड स्थापित किए।

टीम में कनिष्ठ अभियंता मंदीप, पटवारी सुनील यादव के साथ 150 पुलिसकर्मी उपस्थित थे। जमीन को कब्जामुक्त करवाकर मौके पर ही बागवानी शाखा के कर्मचारियों ने पौधारोपण शुरू कर दिया है।

क्या है समस्या की जड़

उल्लेखनीय है कि नगर निगम गुरूग्राम की स्थापना के 13 साल बाद भी नगर निगम अपनी जमीन की पहचान सुनिश्चित करने में विफल रहा है। निगम की हजारों एकड़ जमीन पर अवैध कब्जा कायम है। निगम में जब भी नए कमिश्नर जॉइन करते हैं, वे सबसे पहले निगम की मलीकीयत की जमीन की पहचान कर कब्जा मुक्त कराने का आदेश देते हैं, मगर राजनीतिक दबाव के कारण कुछ ही दिन में ही ढीले पड़ जाते हैं। इस संबंध में निगम सदन में भी लगातार आवाज उठती रही है, मगर निगम अधिकारी पार्षदों की आवाज को दबाते रहे हैं।

बिना बिल्डिंग प्लान स्वीकृति के किए जाने वाले निर्माण को अनाधिकृत माना जाएगा

अब एक बार फिर नवनियुक्त निगम आयुक्त मुकेश कुमार आहुजा ने अधिकारियों को निर्देश दिए थे कि वे निगम जमीनों से अतिक्रमण एवं अवैध कब्जों को हटाएं, ताकि इन जमीनों का बेहतर इस्तेमाल किया जा सके। उन्होंने कहा कि इन जमीनों पर जनता के लिए विभिन्न प्रकार की नागरिक सुविधाएं विकसित की जा सकती हैं या इन पर कमर्शियल भवन विकसित करके नगर निगम के राजस्व में बढ़ौतरी की जा सकती है।

अनाधिकृत निर्माणों के बारे में निगमायुक्त ने कहा कि नगर निगम गुरूग्राम की सीमा में किसी भी प्रकार का निर्माण शुरू करने से पूर्व उसका बिल्डिंग प्लान स्वीकृत करवाना अनिवार्य है। बिना बिल्डिंग प्लान स्वीकृति के किए जाने वाले निर्माण को अनाधिकृत माना जाएगा तथा उसके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

लक्ष्मण विहार में अनाधिकृत निर्माणों पर चला पीला पंजा
वहीं दूसरी ओर जोन-1 क्षेत्र के सहायक अभियंता (इनफोर्समैंट) हितेष दहिया व कनिष्ठ अभियंता राजकुमार की टीम ने पुलिस बल की मौजूदगी में लक्ष्मण विहार में अनाधिकृत निर्माणों पर पीला पंजा चलाया। सहायक अभियंता के अनुसार लक्ष्मण विहार फेज-2 में आरके इन्कलेव सोसायटी में एक व्यक्ति लगभग 200 वर्ग गर्ज भूमि पर अनाधिकृत रूप से फ्लैटों का निर्माण कर रहा था। टीम ने मौके पर पहुंचकर अनाधिकृत निर्माणों को धराशायी करने की कार्रवाई की। इसके साथ ही टीम ने आसपास के क्षेत्र में घरों के सामने अवैध रूप से बनाए गए रैंप आदि भी तोड़े।

खबरें और भी हैं...