हड़ताल नहीं हाईवे जाम:भारत बंद रहा बेअसर, दिल्ली में एंट्री से पहले हुई चेकिंग से कई घंटे तक हाईवे पर लगा ट्रैफिक जाम

गुरुग्राम2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दिल्ली बॉर्डर से गुड़गांव शहर तक लगा रहा ट्रैफिक जाम - Dainik Bhaskar
दिल्ली बॉर्डर से गुड़गांव शहर तक लगा रहा ट्रैफिक जाम
  • दिल्ली बॉर्डर से गुड़गांव शहर तक लगा रहा ट्रैफिक जाम
  • पुलिस ने जगह-जगह वाहनों को रोका, इसलिए बिगड़ी ट्रैफिक व्यवस्था

तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर सोमवार को भारत बंद रखने की अपील का असर गुड़गांव में कम देखने को मिला। पूरे जिला के बाजार आम दिनों की तरह खुले रहे। वहीं दूसरी ओर प्रदर्शनकारी यहां से दिल्ली नहीं पहुंच पाएं इसके लिए दिल्ली पुलिस ने गुरुग्राम- दिल्ली एक्सप्रेस-वे पर सिरहौल-रजोकरी सीमा पर बैरिकेड्स लगा सुबह सात से 11 बजे तक वाहनों की जांच की।

जिससे वाहन चालकों को ट्रैफिक जाम से दो-चार होना पड़ा। इसके अलावा राजस्थान की सीमा पर भी राजस्थान पुलिस ने ट्रकों को रोक दिया। तावडू-भिवाड़ी सीमा पर भी ऑटो सड़क पर लगाकर हड़ताल होने की बात कहकर वाहनों को राजस्थान पुलिस डायवर्ट करती देखी गई। दिल्ली की ओर जाने वाले वाहनों की भी गहन जांच के बाद एंट्री दी गई, जिससे दिल्ली-गुड़गांव सीमा पर वाहनों की लंबी लाइनें लग गई।

बाजार में आम दिनों की तरह खुलीं दुकानें
किसान मोर्चा व कई ट्रेड यूनियन पदाधिकारियों के साथ सुबह सुबह साढ़े नौ बजे सदर बाजार पहुंचे। तब तक बाजार की अधिकतर दुकान खुली भी नहीं थीं। प्रदर्शनकारी कुछ दुकानदारों से अपील करते हुए आगे निकल गए। लेकिन बाजार के दुकानदारों पर अपील का असर दिखा नहीं। वहीं सुबह 10 बजे तक पूरे बाजार की दुकानें खुल गईं। इसी तरह सोहना बाजार में भी भारत बंद का कोई असर नहीं दिखा। जबकि अन्य कार्यालय रोजाना की तरह खुले रहे। वहीं भारत बंद का ऐलान करने वाले किसान मोर्चा व ट्रेड यूनियनों के पदाधिकारी शहर के कमला नेहरू पार्क में ही एकत्र होकर सरकार विरोधी नारे लगाते रहे। मानेसर, पटौदी व फरुखनगर में भी भारत बंद का कोई असर नहीं दिखा। हालांकि पुलिस टीम जगह-जगह तैनात रही। दुकानदार विजय व राजकुमार ने कहा कि हमें प्रदर्शनकारियों से कोई लेना-देना नहीं हमने रोजाना की तरह दुकान खोलीं। किसान संगठनों ने कहा- विरोध जारी रहेगा

वहीं बंद का असर नहीं होने के बावजूद संयुक्त किसान मोर्चा गुड़गांव के अध्यक्ष चौधरी संतोख सिंह ने कहा कि मोर्चा के पदाधिकारियों ने ट्रेड यूनियन एवं सामाजिक संगठनों के पदाधिकारियों के साथ अपना बाजार,अग्रसेन चौक से डाकखाना चौक होते हुए सदर बाजार में जाकर दुकानदारों से अपील की। उन्होंने कहा कि हमारा प्रदर्शन शांतिपूर्ण रहा। जब तक केंद्र सरकार तीनों नए कानून को रद नहीं करेगी तब तक विरोध जा रहेगा। बाजार बंद रखने के लिए किसी पर दबाव नहीं बनाया गया।

ट्रैफिक जाम जैसी स्थिति बनी रही
एक्सप्रेस-वे पर जाम लगने से वाहन चालकों ने दिल्ली जाने के लिए एमजी रोड तथा पुरानी दिल्ली रोड की ओर वाहन मोड़ दिया। एमजी रोड पर दिल्ली जाने वाले वाहनों का दबाव तो बढ़ा लेकिन वाहन धीमी गति से चलते रहे। वहीं शंकर चौक से उद्योग विहार होकर दिल्ली रोड को जोड़ने वाली सड़क पर भी ट्रैफिक का दबाव बना रहा। यहां भी स्थिति सामान्य होने में करीब दो घंटे लगे। पांच से दस मिनट की दूरी तय करने में वाहन चालकों को एक से डेढ़ घंटा लगा। जाम में फंसने से कई लोगों की फ्लाइट छूट गई वहीं दिल्ली स्थित अपने कार्यस्थल पर भी लोग समय से नहीं पहुंच सके। जाम की समस्या विकराल होती देख गुड़गांव पुलिस के अधिकारियों ने दिल्ली पुलिस के अधिकारियों से बात की तो सघन जांच का दायरा कम हुआ और रेंगते वाहन आगे बढ़ने लगे। दोपहर 12 बजे तक ट्रैफिक व्यवस्था सामान्य हो सकी।

खबरें और भी हैं...