पलायन का असर / दिल्ली से गुड़गांव में एंट्री के लिए वाहनों की लगी लंबी लाइनें, तीन घंटे तक बने रहे ट्रैफिक जाम जैसे हालात

गुड़गांव. सिरोहल बार्डर पर लगे जाम में फंसे वाहन। गुड़गांव. सिरोहल बार्डर पर लगे जाम में फंसे वाहन।
X
गुड़गांव. सिरोहल बार्डर पर लगे जाम में फंसे वाहन।गुड़गांव. सिरोहल बार्डर पर लगे जाम में फंसे वाहन।

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

गुड़गांव. लॉकडाउन-4 में लोगों को आवाजाही की छूट मिलने के बाद सड़कों पर गाड़ियों की संख्या में वृद्धि के साथ ही दिल्ली से सटे गुड़गांव की सीमा पर भारी जाम भी देखने को मिला। शुक्रवार की सुबह पुलिस वाहन चालकों से मूवमेंट पास मांग रही थी, लेकिन कुछ वाहन चालक पूरी जानकारी के बिना ही गुड़गांव सीमा तक पहुंच गए।

इस संबंध में एसीपी ब्रह्म सिंह ने कहा कि लॉकडाउन चार में वाहन चालकों को छूट दी गई हैं, लेकिन सीमा पर वाहनों का दबाव बढ़ रहा है। लेकिन दिल्ली से गुड़गांव में सरकारी कर्मचारी, डाक्टर सहित असेंशियल सर्विसेज में काम करने वाले लोगों को छूट दी गई है। ऐसे में दिल्ली से आने वाले वाहन चालकों को कड़ी जांच के बाद ही एंट्री करने दी जा रही है, जिससे सुबह के समय दिल्ली-गुड़गांव सीमा पर ट्रैफिक जाम से हालात बने रहे।
पुलिस अधिकारी बोले- स्टेट के लिए मूवमेंट पास जरूरी
एसीपी उद्योग विहार ब्रह्म सिंह पोसवाल ने कहा कि लॉकडाउन 4.0 में कुछ छूट दी गई हैं। लेकिन एक स्टेट से दूसरे में जाने के लिए केवल सरकारी कर्मचारियों, असेंशियल सर्विसेज में काम करने वाले लोगों व डाक्टर आदि को छूट दी गई है। जबकि अन्य वाहन चालकों के लिए एंट्री करने से पहले मूवमेंट पास दिखाना होगा। इसके अलावा दिल्ली से गुड़गांव में काम करने वाले लोगों को रोजाना पास से एंट्री नहीं करने दी जा सकती।
गुड़गांव-दिल्ली बॉर्डर पर रोजाना 5 हजार गाड़ियां निकल रही हैं
दिल्ली मेट्रो, ट्रेनें व बसें नहीं चलने से दिल्ली से गुड़गांव आने वाले लोग अपने निजी वाहनों का इस्तेमाल कर रहे हैं। जिससे गुड़गांव-दिल्ली बॉर्डर पर रोजाना करीब पांच हजार गाड़ियां निकल रही हैं। पिछले चार दिन से लॉकडाउन-4 में सरकार द्वारा कुछ छूट दी गई हैं, जिससे लोग सोशल डिस्टेंस को भूलकर अपने काम पर निकल रहे हैं। शुक्रवार सुबह भी सिरहोल बॉर्डर पर सुबह 8 बजे ही बड़ी संख्या में वाहन जमा हो गए। लेकिन गुड़गांव पुलिस ने रोककर एक-एक गाड़ियों को ही चैकिंग के बाद एंट्री करने दी, जिससे बॉर्डर पर करीब तीन घंटे तक ट्रैफिक जाम जैसे ही हालत बने रहे। हालांकि करीब पांच सौ गाड़ी चालक ऐसे मिले जिनके पास मूवमेंट पास नहीं था और जरूरी काम की बात कहकर एंट्री करना चाह रहे थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें वापस लौटा दिया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना