पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गर्मी का आगमन:मार्च में 1945 के बाद पहली बार 40.50 तक पहुंचा अधिकतम पारा

गुड़गांवएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आग के कारण फसल जल कर हुई राख - Dainik Bhaskar
आग के कारण फसल जल कर हुई राख
  • 30 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चली आंधी, बिजली गुल

मार्च महीने की गर्मी ने 75 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार वर्ष 1945 में 31 मार्च को 40.6 डिग्री सेल्सियस रहा था। वहीं गुड़गांव में सोमवार को अधिकतम तापमान बढ़कर 40.5 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया। जो 30 मार्च से पहले अधिक तापमान का नया रिकॉर्ड बन गया है।

वहीं मंगलवार को 25 से 30 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चली धूल भरी आंधी ने गुड़गांव समेत एनसीआर के लोगों का जन-जीवन अस्त-व्यस्त कर दिया। मौसम विभाग के अधिकारियों का कहना है कि अभी दो दिन तेज हवाएं चलने की संभावना है। वहीं मंगलवार को चली तेज हवाओं के कारण बिजली के करीब 25 से 30 फीडर ब्रेकडाउन हो गए। जिनमें बादशाहपुर सब डिविजन के ही 15 फीडर सुबह 11 बजे से देर शाम तक ब्रेकडाउन रहे।

गुड़गांव समेत एनसीआर में सुबह 10 बजे से ही तेज हवाएं चलने लगी, जो देर शाम तक जारी रही। दोपहर के समय तेज हवा ने लू का रूप धारण कर लिया और निर्माणाधीन सड़कों पर छिड़काव नहीं होने से धूल के कारण खासकर टू-व्हीलर चालकों का चलना मुश्किल हो गया।

वहीं मंगलवार को न्यूनतम तापमान भी बढ़कर 20.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। धूल भरी आंधी के कारण आसमान में भी धूल-धूल दिखाई देने लगी। खासकर इस हवा से गेहूं की जहां पकाव पर तैयार खड़ी फसलों में नुकसान हो रहा है। वहीं गेहूं की कटाई भी तेज हवा के कारण प्रभावित रही।

दुल्हेंडी के दिन लू के थपेड़ों ने किया बेहाल: वहीं होली से अगले दिन ही सोमवार को जहां अधिकतम तापमान ने 75 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया, वहीं दोपहर में लू के थपेड़ों से लोग बेहाल दिखाई दिए। वहीं तेज धूप के कारण भी गर्मी से लोग बेहाल रहे और एसी चलाने को मजबूर हो गए। ऐसे में बिजली खपत में भी तेजी से इजाफा होना तय माना जा रहा है। मार्च में ही मई जैसी गर्मियां आने से बिजली की खपत भी पहले ही बढ़ जाएगी।

तेज हवा के साथ 11 जगह लगी आग, दौड़ती रही दिनभर फायर की गाड़ियां

पिछले 10 साल में 2019 में 39 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा था तापमान| वहीं मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार पिछले दस साल की बात करें तो वर्ष 2019 में 31 मार्च को अधिकतम तापमान 39.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। जबकि 2018 में 29 मार्च को 38.6 डिग्री सेल्सियस तक तापमान पहुंचा था। जबकि अन्य किसी भी वर्ष 38 डिग्री सेल्सियस से अधिक पारा नहीं पहुंचा था।

मंगलवार को तेज हवा से जहां जनजीवन अस्त-व्यस्त दिखाई दिया, वहीं दिनभर में दर्जनभर जगहों पर आग लगने की सूचना मिलने के कारण पूरे दिन फायर ब्रिगेड की गाड़ियां दौड़ती रही। सोहना, मानेसर, पटौदी व फर्रुखनगर में आगजनी होने के कारण दिनभर गाड़ियां इधर से उधर भेजनी पड़ी। कई जगह फसलें जल गई जबकि कई जगह ईंधन भी जल गया। सेक्टर-29 दमकल केन्द्र से लाला खेड़ली गांव में तूड़े के बूंगे में आग लगने की सूचना मिली।

इसके अलावा वहां पर बिटोड़े व टीनशैड में भी आग लग गई, जिससे एक भैंस व एक गाय समेत ईंधन भी जल गया। करीब छह घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका। इस बाद 12.45 बजे हुडा जिमखाना क्लब में कबाड़ में आग लगने की सूचना मिली।

इसके बाद गुड़गांव के कोर्ट के चैम्बर में आग लग गई। इसके बाद 2.15 बजे अभयपुर व दमदमा झील के पास पहाड़ में आग लगने की सूचना मिली। जहां देर रात तक गाड़ियां भेजी गई, लेकिन देर रात तक आग पर काबू नहीं पाया जा सका।

इसके अलावा सोहना दमकल केन्द्र में हरचंदपुर गांव के गेहूं के खेत में आग लगने की सूचना मिली। जिससे एक बीघा फसल जल गई। वहीं मानेसर दमकल केन्द्र में गांव मोकलवास में गेहूं की खड़ी फसल में आग लग गई। जिसमें करीब दो घंटे बाद गाड़ियां वापस लौटी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

    और पढ़ें