पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस:राजकीय महाविद्यालय सेक्टर-14 में आयोजित किया गया भव्य कार्यक्रम, विभिन्न क्षेत्रों में सराहनीय कार्य करने वाली 36 महिलाओं को किया गया सम्मानित

गुरूग्रामएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गुरूग्राम के उपायुक्त डॉक्टर यश गर्ग ने सभी महिलाओं को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनाएं दी। - Dainik Bhaskar
गुरूग्राम के उपायुक्त डॉक्टर यश गर्ग ने सभी महिलाओं को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनाएं दी।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर आज गुरूग्राम के राजकीय कन्या महाविद्यालय सेक्टर-14 में जिला स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता उपायुक्त डॉक्टर यश गर्ग ने की। इस मौके पर विभिन्न क्षेत्रों में सराहनीय कार्य करने वाले 36 महिलाओं को उपायुक्त द्वारा सम्मानित भी किया गया।

इस मौके पर अपने विचार रखते हुए गुरूग्राम के उपायुक्त डॉक्टर यश गर्ग ने सभी महिलाओं को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनाएं दी और कहा कि इस बार अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस का थीम ‘चूज टू चैलेंज‘ अर्थात ‘चुनौतियों को स्वीकारें’ था। उन्होंने कहा कि प्रशासक के तौर पर वे जिला गुरूग्राम में महिलाओं को आगे बढने के पूरे अवसर प्रदान करेंगे। अपनी कामयाबी का श्रेय अपनी मां को देते हुए डॉक्टर गर्ग ने कहा कि आज मैं जो कुछ भी हूं उसमें मेरी मां का अहम योगदान है। मैंने MBBS की और उसके बाद प्रशासनिक सेवा में आ गया लेकिन मेरी पत्नी ने MBBS के बाद उच्च चिकित्सा शिक्षा हासिल की। वे मुझसे ज्यादा शिक्षित हैं और मेरे जीवन में अब उनका अहम रोल है।

महिलाओं को समान अवसर प्रदान करने की जरूरत

उन्होंने कहा कि महिलाएं आज किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं हैं, चाहे खेलों में मेडल लाने की बात हो, हमारे देश के लिए महिला खिलाड़ी ज्यादा मेडल जीतकर लाई। बोर्ड की परीक्षाओं में भी लड़कियों का प्रदर्शन लड़कों से बेहतर रहता है। गर्ग ने कहा कि हमें महिलाओं के लिए कुछ विशेष नहीं करना, केवल उन्हें समान अवसर प्रदान करने की आवश्यकता है। उन्होंने यह भी कहा कि आमतौर पर हम पुरुषों और महिलाओं के अलग-अलग काम निर्धारित कर देते हैं, जोकि गलत है।

यह केवल हमारे ही देश में होता है, बाकी देशों में ऐसे काम का निर्धारण नहीं होता। उन्होंने उपस्थित महिलाओं का आह्वान किया कि वे अपने घर में बच्चों की परवरिश किस प्रकार से करें कि कामों का बंटवारा लिंग के आधार पर ना हो। घर की साफ-सफाई से लेकर खाना बनाने तक का काम लड़के भी कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि भगवान ने सबको एक जैसी क्षमता के साथ भेजा है और इस क्षमता का उनको सभी क्षेत्रों में प्रदर्शन करना है, तभी एक ऐसे समाज की रचना होगी जिसमें लैंगिग भेदभाव नहीं होगा। उन्होंने यह भी कहा कि इतिहास गवाह है कि नारी ने पहले भी समाज मे महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आसपास का वातावरण सुखद बना रहेगा। प्रियजनों के साथ मिल-बैठकर अपने अनुभव साझा करेंगे। कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा बनाने से बेहतर परिणाम हासिल होंगे। नेगेटिव- परंतु इस बात का भी ध...

और पढ़ें