कंपनियों की पहल:कोरोना में गुड़गांव की निजी कंपनियों ने की हैल्थ सर्विस शुरू करने की पहल

गुड़गांव6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना महामारी में एक ओर जहां जिला प्रशासन कोविड पेशेंट्स को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने में पूरी तरह से विफल ही हो रही है, वहीं निजी कंपनियों ने अपनी हैल्थ सर्विस शुरू करने की पहल की है। हीरो मोटोकाॅर्प ने 100 बैड का अस्थाई कोविड अस्पताल बनाना शुरू कर दिया है, जो अगले एक सप्ताह या 10 दिन में तैयार होने का अनुमान है।

इसी प्रकार, भारत सरकार के पीएसए कार्यालय की ओर से भी गुरूग्राम में 100 बैड के अस्थाई अस्पताल की व्यवस्था की जाएगी। एम3एम के सेक्टर 65 स्थित नवनिर्मित खाली फ्लैटों में भी 100 बैड के मेक शिफ्ट अर्थात् अस्थाई अस्पताल का प्रबंध किया जा रहा है। एम3एम डिवलेपर और मेदांता द मैडिसिटी के बीच तालमेल हुआ है जिसके अंतर्गत कम सीरीयस कोविड मरीजों को मेदांता से वहां शिफ्ट किया जाएगा और वे मरीज मेदांता के अनुभवी चिकित्सकों की देखरेख में रहेंगे।

इसी प्रकार, डीएलएफ लिमिटिड ने भी 150 बैड का अस्थाई अस्पताल बनाना शुरू कर दिया है, जिसके लिए शहर के किसी अस्पताल के साथ उसका तालमेल होगा। इस प्रकार के अस्थाई अस्पतालों को शहर के बडे़ अस्पतालों के साथ जोड़ा जाएगा ताकि वहां के अनुभवी और वरिष्ठ चिकित्सकों की सेवाएं इन मरीजों को मिल सके।

डा. गर्ग ने बताया कि पाॅवर फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटिड ने भी सीएसआर के तहत एक मेक शिफट अस्पताल स्थापित करने का भरोसा दिलाया है। होंडा मोटर साईकिल एण्ड स्कूटर इंडिया प्राइवेट लिमिटिड भी 100 बैड का अस्थाई अस्पताल बनाकर देगा।

खबरें और भी हैं...