अयोध्या की रामलीला:विश्व यात्रा अभियान के तहत 21 को गुड़गांव में होगा अयोध्या की रामलीला का मंचन

गुड़गांव6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अयोध्या में होने वाली रामलीला को लेकर आयोजकों के विश्व यात्रा की शुरुआत की है

भगवान श्रीराम की जन्मभूमि अयोध्या में होने वाली रामलीला को लेकर आयोजकों के विश्व यात्रा की शुरुआत की है। इसी क्रम में गुड़गांव के सेक्टर,-46 स्थित एचएसवी ग्लोबल स्कूल में आगामी 21 नवम्बर की शाम को अयोध्या की रामलीला का मंचन कलाकारों द्वारा किया जाएगा। अयोध्या की रामलीला के अध्यक्ष सुभाष मलिक उर्फ बॉबी ने पत्रकारवार्ता में बताया कि अयोध्या की रामलीला विश्व यात्रा पर निकल गई है। भगवान श्रीराम की लीलाओं का मंचन न केवल देश के विभिन्न प्रदेशों के शहरों में किया जाएगा, अपितु विश्व के अन्य देशों में भी राम की लीलाओं का मंचन कर देश की सभ्यता व संस्कृति से लोगों को अवगत कराया जाएगा।

पत्रकारवार्ता में भगवान श्रीराम की भूमिका निभाने वाले कलाकार राहुल बुच्चर व सीता की भूमिका निभाने वाली कनिका लाल भी शामिल रही। राहुल बुच्चर ने कहा कि अयोध्या की रामलीला घर-घर तक पहुंचे और भगवान श्रीराम के भक्त इसका लाभ उठाएं, यही उनका उद्देश्य है। रामलीला में हनुमान की भूमिका अभिनेता बिंदू दारा सिंह व रावण की भूमिका शहबाज खान निभा रहे हैं। उनके अभिनय को सर्वत्र सराहा जा रहा है। रामलीला के संरक्षक पवन वत्स व योगेश शर्मा ने बताया कि अयोध्या की

रामलीला को 21 करोड़ से भी अधिक श्रीराम के भक्तों ने देखा था और अब रामलीला की टीम विश्व यात्रा पर निकल रही है। शुभम मलिक का कहना है कि यह रामलीला विश्व की सबसे बड़ी रामलीला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय संस्कृति मंत्री नीलकंठ तिवारी ने भी रामलीला के कलाकारों की सराहना की है।

आगामी 26 दिसम्बर को पटना में रामलीला का मंचन होगा। अगले वर्ष जनवरी में गोवा, फरवरी व मार्च में मुंबई, अप्रैल में केरल व मई में नेपाल, जो सीतामाता की जन्म भूमि है वहां पर मंचन होगा। इसी प्रकार जून में लंदन व मलेशिया में, जुलाई में इंडोनेशिया, अगस्त में राजस्थान व सितम्बर में गुजरात में रामलीला का मंचन किया जाएगा और फिर उसके बाद भगवान श्रीराम की जन्मभूमि अयोध्या में रामलीला का आयोजन होगा।