पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

असमंजस बरकरार:तीन माह में टीचर्स के ट्रांसफर को लेकर दो बार शेड्यूल जारी, अभी भी असमंजस

गुड़गांव16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • अलग-अलग कोर्ट केस के कारण ट्रांसफर प्रक्रिया में स्टे लगा हुआ है

पिछले तीन महीनों से ट्रांसफर पॉलिसी को लेकर दो बार शेड्यूल जारी किया जा चुका है, लेकिन अभी तक शिक्षकों को ट्रांसफर नहीं मिल पाए हैं। अब अलग-अलग कोर्ट केस के कारण ट्रांसफर प्रक्रिया में स्टे लगा हुआ है। जिसके चलते शिक्षक भी असमंजस की स्थिति में हैं कि इस वर्ष उन्हें ट्रांसफर मिलेगा या नहीं। दरअसल, जून से ट्रांसफर ड्राइव की शुरुआत की गई थी, लेकिन तय किए गए इस बार के नियमों को लेकर कई शिक्षकों ने आपत्ति जताई।

जिसके बाद मामला कोर्ट में चल रहा है। कई शिक्षकों का कहना था कि हर वर्ष स्कूल के बच्चों की परफॉर्मेंस के आधार पर उन्हें 5 अंक ट्रांसफर ड्राइव के दौरान दिए जाते हैं लेकिन इस बार शिक्षा बोर्ड और शिक्षा विभाग ने सभी बच्चों को परीक्षाओं में पास किया। जिसके बाद उन 5 अंकों को हटा दिया गया, जिस पर शिक्षकों ने आपत्ति जताई कि पूरे वर्ष जो मेहनत की है, उन्हें उसका फल मिलना चाहिए। वहीं दूसरा मामला गेस्ट टीचर की पोस्ट को खाली न मानने को लेकर है। इस बार की ट्रांसफर पॉलिसी में गेस्ट टीचर की पोस्ट को खाली नहीं दर्शाया गया, ऐसे में शिक्षकों का कहना था कि जब पोस्ट ही खाली नहीं है तो वह किस तरह आवेदन करेंगे। ऐसे ही कई और विवादों को लेकर मामला अभी हाई कोर्ट में चल रहा है। हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ के उपप्रधान सत्यनारायण यादव का कहना है कि विभाग ने पिछले तीन महीने में स्थानांतरण के लिए दो बार कार्यक्रम जारी किया है।

खबरें और भी हैं...