मिसेज इंडिया प्राइड ऑफ नेशन:उत्तर प्रदेश की स्नेहल और कर्नाटक की स्मिता को पहनाया मिसेज इंडिया प्राइड ऑफ नेशन का ताज

गुड़गांव2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • गुड़गांव के एक होटल में मिसेज इंडिया प्राइड ऑफ नेशन के ग्रैंड फिनाले का आयोजित हुआ

गुड़गांव के एक होटल में मिसेज इंडिया प्राइड ऑफ नेशन के ग्रैंड फिनाले का आयोजित हुआ। इसमें ग्रुप ए से उत्तर प्रदेश की स्नेहल थमके और ग्रुप बी से कर्नाटक की स्मिता प्रभु को मिसेज इंडिया प्राइड ऑफ नेशन का ताज पहनाया गया। इसमें कई जानी मानी हस्तियां जैसे मधुरिमा तुली, आकाश के अग्रवाल शामिल हुईं।

वैसे तो इस प्रतियोगिता में भारत के अनेक हिस्सों से महिलाओं ने बड़ी संख्या में हिस्सा लेने के लिए ऑडिशन दिया था। लेकिन कुछ को ही इस कार्यक्रम का हिस्सा बनाया गया। इन 120 महिलाओं को भी दो भागों में (A कैटेगरी और B कैटेगरी) में बांटा गया। पहले भाग में उन महिलाओं को रखा गया, जिनकी उम्र 30 से कम थी वहीं दूसरे भाग में उन महिलाओं को रखा गया, जिनकी उम्र 30 से ज्यादा थी। ऐसे में विजेताओं का चुनाव भी इन दो भागों को ध्यान में रख कर हुआ है।

ये रही विजेता

ग्रुप ए की विजेता स्नेहल थमके के साथ-साथ फर्स्ट रनर-अप माविस नॉर्टन और सेकेंड रनर-अप सुचिता सिंघल रहीं। वहीं फेस ऑफ नॉर्थ प्रियदर्शिनी निहारिका, फेस ऑफ साउथ कविता वेणुगोपाल, फेस ऑफ ईस्ट निशिता ठाकुर और फेस ऑफ वेस्ट संतोषी बढ़ाटकर बनीं। अगर ग्रुप बी की बात करें तो विजेता स्मिता प्रभु के साथ-साथ फर्स्ट रनर-अप एंजिला खन्ना और सेकेंड रन-अप मेघा मेहता रहीं। वहीं फेस ऑफ नॉर्थ तरनजोत कैंथ, फेस ऑफ साउथ स्वाति अरोरा, फेस ऑफ ईस्ट देबाश्री पेवारी और फेस ऑफ बस्ट अमरजीत कौर रहीं।

ग्लैमर गुड़गांव की डायरेक्टर बरखा नांगिया द्वारा संचालित ये कार्यक्रम देशभर में महिलाओं की पकड़ को मजबूत करना है। वहीं मिसेज इंडिया- प्राइड ऑफ़ नेशन 2021 को आयोजित करने का लक्ष्य भी महिलाओं के व्यक्तित्व को सशक्त बनाना है। हालांकि, इससे पहले भी ग्लैमर गुड़गांव ने फैशन और एंटरटेनमेंट के क्षेत्र में काम करते हुए समाज के कल्याण में महत्वपूर्ण योगदान निभाया है। ग्लैमर गुड़गांव ने अब तक कई ब्यूटी से संबंधित प्रतियोगिताएं आयोजित की है और कई महिलाओं के सपनों को भी सच किया है। इस मंच ने विवाहित महिलाओं को ना केवल आत्मविश्वास के साथ खड़े होने की हिम्मत दी है बल्कि पूरे गौरव के साथ दुनिया में आगे बढ़ने के लिए एक राह भी दिखाई है।