पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोविड महामारी:शहर के बड़े अस्पतालों में बेड नहीं खाली, एक बेड दिलाने के लिए आम आदमी को खानी पड़ रहे धक्के

गुड़गांवएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गुड़गांव. सिविल अस्पताल में लगी मरीजों की भीड़। - Dainik Bhaskar
गुड़गांव. सिविल अस्पताल में लगी मरीजों की भीड़।
  • केवल कुछ छोटे अस्पतालों में दिख रहे बैड खाली, जिला में 2344 नए पेशेंट मिले, 4 पेशेंट की मौत

कोरोना महामारी के दौरान गुड़गांव के अस्पतालों में बेड पर निगरानी करने के लिए 41 अस्पतालों पर 22 नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। लेकिन एक-एक बेड दिलाने के लिए आम लोगों को धक्के खाने पड़ रहे हैं। लोग अधिकारियों को संपर्क भी कर रहे हैं तो फोन बंद मिल रहे हैं। जिला चीफ मेडिकल ऑफिसर ने अपना ऑफिशियल मोबाइल नंबर (9654231756) बंद कर लिया है।

वहीं साइट पर दिखाए जाने वाले बैड की बात करें तो शहर के नामी अस्पतालों में कोई बेड खाली नहीं है। जबकि छोटे अस्पतालों में ऑक्सीजन वाले 68 बेड, आईसीयू बैड दो व वेंटीलेटर बेड एक भी खाली नहीं है। यह डेटा covidggn.com पर दिखाया जा रहा है। जबकि जिला में तेजी से कोरोना संक्रमण के केस मिल रहे हैं। मंगलवार को जिला में 2344 नए पेशेंट मिले जबकि 842 पेशेंट रिकवर हुए। वहीं चार पेशेंट ने संक्रमण के कारण दम तोड़ दिया।

गुड़गांव में कोरोना महामारी से निपटने के लिए जिला प्रशासन के अधिकारियों के अलावा उच्चाधिकारियों को भी जिम्मेवारी सौंपी गई है। जिला में 41 कोविड अस्पताल दिखाए जा रहे हैं, जिनमें केवल 71 बेड ही दिखाए जा रहे हैं। जबकि जिला में केवल 716 पेशेंट ही अस्पतालों में एडमिट दिखाए जा रहे हैं। ऐसे में साफ है कि जिला के बड़े अस्पतालों में या तो प्रदेश से बाहर के पेशेंट एडमिट किए गए हैं। जबकि जिला के पेशेंट एक-एक बैड के लिए परेशान हो रहे हैं।

जिला में कोरोना संक्रमण की रफ्तार के साथ रिकवरी रेट भी काफी कम हो गया है। जिला में मंगलवार को रिकवरी रेट 98 फीसदी से घटकर 82.93 फीसदी हो गया। 16 फीसदी रिकवरी रेट कम होने से एक्टिव केस में तेजी से इजाफा हो गया है। एक अप्रैल को जिला में कुल 2148 एक्टिव पेशेंट थे, जो 20 अप्रैल को बढ़कर 14270 हो गए। जिनमें से 716 पेशेंट अस्पतालों में एडमिट किए गए हैं, जबकि 211 कोविड केयर सेंटरों में आइसोलेट किए गए और 13343 होम आइसोलेट किए गए हैं।

पिछले आठ दिन में संक्रमण से 18 लोगों की हुई मौत

गुड़गांव में अप्रैल महीने में संक्रमण से मौत के मामले भी तेजी से बढ़ रहे हैं। पिछले आठ दिन में ही 18 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं पिछले दो दिन में ही 9 लोग संक्रमण से दम तोड़ चुके हैं। लेकिन सरकार व अधिकारियों का दावा है कि अस्पतालों में ना तो ऑक्सीजन की कमी है और ना ही बेड की।

इधर, मेवात में फूटा कोरोना बम, पहली बार आए रिकार्डतोड़ 62 नए मामले

नूंह| बीते एक सप्ताह से जिले में कोरोना की रफ्तार जिले में तेज गति से बढ़ती जा रही है। एक साल में जिले में पहली बार कोरोना के मंगलवार को रिकार्डतोड़ 62 नए मामलों ने स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दिया। इसमें मांडीखेड़ा में 5, फिरोजपुर झिरका व नूंह में 9-9, तावडू, पुन्हाना व नलहड मेडिकल कॉलेज में 5-5, उजीना व मोहम्मदपुर अहीर में 3-3, सालाहेड़ी में 2 के अलावा नगीना, कोटा, सूंध, बैंसी, बघोला, रावली, पिनगवां, बिसरू, फतेहपुर, हसनुपर, किरंज, राहुका, जलालपुर, भाकडौजी, रूपाहेड़ी व डोंडल में एक -एक संक्रमित मिले। अब जिले में कोरोना का 175 एक्टिव मरीज है। जिले में अभी 3534 लोगों की रिपोर्ट आना बाकि है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें