पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

परेशानी:सौ फीसदी फास्टैग रीडिंग की व्यवस्था किए जाने से खेड़कीदौला टोल पर लग रहा ट्रैफिक जाम

गुड़गांव15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गुड़गांव. खेड़कीदौला टोल पर लगा जाम। - Dainik Bhaskar
गुड़गांव. खेड़कीदौला टोल पर लगा जाम।
  • पीक ओवर्स में 2 किमी तक लग रही वाहनों की लाइनें, नौकरीपेशा लोगों को हो रही परेशानी

दिल्ली-जयपुर हाइवे स्थित खेड़कीदौला टोल पर फास्टैग रीडिंग की व्यवस्था ठीक नही होने के कारण बुधवार को भी दिनभर जाम की स्थिति बनी रही। दोपहर में वाहनों का जाम 800 मीटर लंबा जाम लगा रहा। जाम की स्थिति इसलिए बन रही थी क्योंकि टोल पर आने वाले कई वाहनों की मैनुअली फास्टैग रीडिंग की जा रही थी।

ऐसे में कई वाहन चालक परेशान होकर टोल प्रबंधन से झगड़ने के लिए तैयार दिखाई दिए। हालांकि, इस बारे में टोल प्लाजा प्रबंधन की तरफ से स्पष्ट कर दिया गया कि सभी वाहनों में समस्या नहीं थी। कुछ ही ऐसे वाहन थे, जिनमें लगे फास्टैग पर धूल मिट्टी जम जाने व अन्य समस्याओं के चलते फास्टैग को ऑटोमेटिक स्कैनिंग में समस्या आ रही है, जिसके चलते फास्टैग की रीडिंग मैनुअली करनी पड़ रही थी और कुछ समय के लिए जाम लग गया। खेड़कीदौला टोल प्लाजा पर 100 फीसदी फास्टैग सिस्टम लागू होने के बाद लगातार दूसरे दिन बुधवार को भी पीक ओवर्स के दौरान दोनों तरफ एक से दो किलोमीटर तक वाहनों का दबाव बढ़ा रहा। बाकी समय में भी 500 मीटर तक वाहनों की लाइनें लग रही हैं।

बुधवार सुबह काफी देर तक कई एंबुलेंस व फायर बिग्रेड की गाड़ियां भी फंसी रहीं। कुछ कैमरे भी ठीक से फास्टैग रीड नहीं करते। इन वजहों से वाहनों का दबाव बढ़ता है। परेशान लोगों के मुंह से एक ही आवाज निकल रही है कि दोनों तरफ कम से कम एक-एक कैश लेन होनी चाहिए।

ट्रैफिक जाम के कारण लोग हो रहे परेशान

टोल प्लाजा पर ट्रैफिक के दबाव की वजह से हजारों लोग समय से काम पर नहीं पहुंचे। लोगों का कहना है बिना तैयारी के इस बार भी 100 फीसदी फास्टैग लागू किया गया है। इस्लामपुर निवासी देवराज मानेसर स्थित एक कंपनी में काम करते हैं। उनका भी कहना है दोनों तरफ कम से कम एक-एक कैश लेन होनी चाहिए। यदि आबादी से दूर टोल प्लाजा होता तो दिक्कत नहीं होती। आबादी के बीच है। टोल के दायरे से बाहर वाले वाहनों की संख्या भी काफी अधिक है।

खेड़कीदौला टोल प्लाजा से रोज 75 से 80 हजार वाहन निकलते हैं

दिल्ली-गुरुग्राम खेड़कीदौला टोल प्लाजा से प्रतिदिन 75 से 80 हजार वाहन निकलते हैं। एनएचएआइ का भी मानना है कि 15 फीसदी वाहनों में फास्टैग नहीं है। यही नहीं वाहनों के दबाव के हिसाब से कम से कम 40 लेन होनी चाहिए, जबकि केवल 25 लेन ही हैं।

इसके बाद भी सभी लेन में फास्टैग सिस्टम लागू कर दिया गया। नतीजा यह है जिन वाहनों में फास्टैग की सुविधा नहीं है, वे भी फास्टैग लेनों से ही निकलने का प्रयास करते हैं। कुछ वाहन चालक फास्टैग रिचार्ज करने पर ध्यान नहीं देते हैं। उनसे भी दोगुना टैक्स वसूला जाता है। जिससे वाहन चालकों की टोलकर्मियों से बहस भी होती है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज समय कुछ मिला-जुला प्रभाव ला रहा है। पिछले कुछ समय से नजदीकी संबंधों के बीच चल रहे गिले-शिकवे दूर होंगे। आपकी मेहनत और प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। किसी धार्मिक स्थल पर जाने से आपको...

    और पढ़ें